October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

नागदा विधायक की पहल पर मिलेगा अन्नदाता को खराब फसल का मुवावजा


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

विधायक दिलीपसिंह गुर्जर की मांग पर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री कमलनाथजी द्वारा क्षेत्र के अन्नदाता की खराब फसलों का मुआवजा प्रदान किए जाने हेतु 1 अरब 74 करोड 82 लाख 24 हजार 920 रूपये की स्वीकृति प्रदान की है। प्रदेश सरकार द्वारा दी गई स्वीकृती के तहत खाचरौद तहसील के लिए फसल क्षति राहत राशी रूपये 83 करोड 66 लाख एवं नागदा के कृषकों के लिए 91 करोड 16 लाख रूपये की सहायता राशि की स्वीकृति दी गई है। राजस्व विभाग के अधिकारियों को कृषकों को प्राप्त होने वाली मुआवजे की राशि ई-पेमेन्ट के माध्यम से उनके बैंक खातों में सीधे डाले जाने के निर्देश भी दिए गए हैं।
अतिवर्षा से फसले हो गई थी खराब
विधायक श्री गुर्जर ने बताया कि अतिवर्षा के चलते किसानों की सोयाबीन की फसल अफलन एवं ईल्ली के प्रकोप से अत्यधिक खराब हो गई थी। जिसको लेकर उनके द्वारा प्रदेश स्तर पर क्षेत्र के किसानों की खराब सोयाबीन की फसल क्षतिपूर्ति की राशि अन्नदाता को प्रदान किए जाने हेतु मुख्यमंत्री एवं कृषि मंत्री से मुलाकात कर शीघ्र भूगतान किए जाने का अनुरोध किया था। इसी के चलते खाचरौद-नागदा क्षेत्र के किसानों को कुल 1 अरब 74 करोड 82 लाख 24 हजार 920 रूपये की राशि का भूगतान किया जाऐगा।
नागदा एवं खाचरौद के कृषकों को मिलेगा मुआवजा
श्री गुर्जर ने बताया कि पाडसुत्या गांव के लिए 824540 रूपये, उमरना के लिए 699340 रूपये, बिलवानिया के लिए 12,55,160 रूपये, सेकडी सुल्तानपुर के लिए 673618, कडीयालि के लिए 540858, संदला के लिए 2511832, कमठाना के लिए 595374, मदगनी के लिए 477796 रूपये की राशि इन गांवों में ई-पेमेन्ट सिस्टम द्वारा भूगतान की कार्रवाई राजस्व विभाग द्वारा प्रारंभ कर दी गई है। क्षेत्र के अन्य गांवों की ई-पेमेन्ट की कार्रवाई शीघ्र प्रारंभ होगी।
दस्तावेज अधिकारियों को उपलब्ध करवाऐं
श्री गुर्जर ने क्षेत्र के किसानों से अनुरोध किया है कि फसल क्षति राशि हेतु अपने भूमि के दस्तावेज संबंधित ग्राम के हल्का पटवारी को उपलब्ध करवाऐं, वहीं खाचरौद-नागदा के अनुविभागीय अधिकारी को निर्देशित किया है कि क्षेत्र का एक भी पात्र किसान फसल हानि की मुआवजा राशि से वंचित न रहे।
गौरतलब है कि खाचरौद-नागदा क्षेत्र के अधिकतर गांवों मंे खेतों में खडी सोयाबीन फसल पर पहले तो मौसम की मार और अब अधिक बारिश, अफलन व ईल्ली के प्रकोप से फसल नष्ट हो गई थी। क्षेत्र के कई गांवों की सैकडों बीघा में बोई गई सोयाबीन की फसल अतिवृष्टि के कारण बांझ रह गई थी और क्षेत्र में खराब सोयाबीन की फसल को देख-देखकर किसानों के चेहरे पर मायुस दिखाई दे रहे थे तथा अन्नदाता के समक्ष जीवन यापन का गंभीर संकट उत्पन्न हो गया था। अन्नदाता की उक्त परेशानी को विधायक गुर्जर द्वारा गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्रीजी एवं कृषि मंत्रीजी से मुआवजा राशि प्रदान किए जाने की मांग की थी।_

संजय शर्मा