October 31, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

दस्तारबंदी, प्रमाण पत्र देकर किया सम्मानित

दस्तारबंदी, प्रमाण पत्रों को देकर किया सम्मानित
बिजनौर नहटौर शमीम अहमद / मो, शाहरुख। पदरसा फैजुल उलूम मौहल्ला पीरशहीद काला मे एक दिवसीय दीनी इजलास का आयोजन किया गया। जलसे में 13 तालिबें इल्म द्वारा कुरआन हिफ्ज़ करने पर उनकी दस्तारबंदी की गई।
मौहल्ला पीर शहीद काला मे आयोजित जलसे मे हजरत मौलाना मौ. आदम मुस्तुफा ने कहा कि हमारे पैंगबर ने लोगों के बीच जाकर अपना अख़लाक पेश किया। उनके अख़लाक से दुश्मन भी दोस्त हो गये। उन्होने कहा कि मुसलमान आम लोगों के साथ वो अख़लाक पेश करें जो नबी ने किया तो समझों दुनिया मे इस्लाम का सर बुलंद होगा। उन्होने कहा कि खुदा ने मुसलमान को दुनिया मे हाकिम बनाकर भेजा था। उसका काम गरीबों की खिदमत करना इंसानियत का पैगाम देना, नफरत मिटाना मौहब्बत कायम करना था। लेकिन आज मुसलमान दीन के बताये रास्ते से भटक गया है। मुसलमान आज भाइयों बहनों यतीमों का हक मार रहे है। जो देने वाले थे, वे आज हक मारने वाले बन गये है तो हम कैसे हाकिम बन सकते है। गुस्से को बर्दाशत करने वाला माफ़ करने वाला इमान वाला होता है। उन्होने कहा कि मोमीनों के गले का हार नमाज़ है, मुसलमान कसरत के साथ नमाज़ कायम करे।जलसे का आगाज कारी मो हारून के तिलावते कुरान पाक से हुआ। जलसे मे मदरसे के तालिबे इल्म मौ. आयान पुत्र मौ. जावेद, मौ. जैद पुत्र मौ. यामीन, मौ. हुजैफा पुत्र मौ. जहीर, मौ. फरदीन पुत्र मौ. फुरकान, मौ. अलमास पुत्र मौ. फईम नहटौर, मौ. जैद पुत्र मौ. अहसान वैरमनगर, मौ. फैजान पुत्र कारी इरफान गडीकपुरा, मौ. शौकत पुत्र मौ अतहर किशनगंज, मौ. नज़ीर पुत्र कलीमुददीन, मौ. निसात पुत्र मौ. अहसान औरेया बिहार, मौ. सलमान पुत्र मौ. मोहसिन दहीरपुर, मौ. अहसान पुत्र मौ. अयुब पुरैना द्वारा कुरान का आखि़री सबक पढ़ने के साथ कुरआन हिफ्ज करने पर उनकी मौलाना मौ. मुस्तकीम खुरैजी दिल्ली, मौ. आदम मुस्तुफा फिरोजाबाद, कारी इकरार अहमद दारूल उलूम देवबंद, मौलाना मौ. सईद नगीना, कारी मौ. हारून, कारी अ. रज्जाक, मौलाना मौहम्मद मुकर्रम, हाजी जमील अहमद देहली ने पगड़ी बांधकर दस्तारबंदी की। कारी अ.रज्जाक की अध्यक्षता और कारी मौ. हारून के संचालन मे आयोजित जलसे मे मौलाना सुल्तान, कारी रियाजुददीन, कारी अब्दुल कादिर, कारी रियासुददीन, कारी नसीम अहमद, मौलाना हकीकुल्ला, मौलाना अब्दुल रशीद, मौलाना नफीस कासमी, मुफ्ती दिलशाद अहमद, मौलाना महबूब, सैयद अवैस ज़की, सिकंदर इकबाल, हाजी अ. कादिर, सलीम डाॅलर,अथर मंसूरी, मा आफताब, हाजी असलम, हाजी राशिद, हाजी आफाक, हाजी महताब आलम, फारूक फौजी आदि मौजूद रहे। जलसे को कामयाब बनाने मे डा. अहमद मियंा, हाजी नूरूलहक, हाजी अ.रहीम, मौ. आसिफ, हाजी आबिद, मा. जहीर रब्बानी, मौ. हनीफ आदि का बिशेष सहयोग रहा। आखिर मे मौलाना शरीफ अहमद ने मुल्क मे अमनोअमान की दुआ कराई।

थाने पर हंगामा करती महिलाएं
नहटौर। गांव महमूदपुर मिलक उर्फ बच्चेवाला में गई टीम के सदस्यों के साथ कहासुनी और मारपीट करने के मामले मे पुलिस ने तीन ग्रामीणों के विरूद्व रिर्पोट दर्ज कर ली है।
विद्युत विभाग के नोडल अधिकारी टीजी 2 चंद्रकिरण के नेतृत्व में कर्मचारियों की टीम का ग्रामीणों के साथ विवाद हो गया था। ग्रामीणों ने कर्मचारियों के साथ मारपीट कर दी थी। जिस पर विद्युत कर्मचारियों ने भागकर अपनी जान बचाई। कर्मचारियों ने विभागीय अधिकारियों व पुलिस से शिकायत की थी। वही शनिवार की देर रात्रि ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज होने से गुस्साइ महिलाओं ने थाने पहुंचकर प्रर्दशन किया और महिलाओं का आरोप था कि विद्युत टीम ने उनके साथ अभद्रता की तथा विरोध करने पर मारपीट की और वह पैसे की डिमांड कर रहे थे। उपनिरीक्षक अनुज तोमर ने कोतवाल के थाने मे मौजूद न होने पर ग्रामीणों से सुबह मे आने के लिये कहकर मामले को शांत किया। गुस्साई महिलाओं ने ग्रामीणों पर किये गये मुकदमे वापस ने लेने और विद्युत कार्यवाही न करने पर आंदोलन की चेतावनी दी। वही कर्मचारियों की तहरीर पर ग्रामीण बाबू सहित तीन लोगों के विरूद्व विद्युत अधिनियम 132, 135 के अंतगर्त रिर्पोट दर्ज की है।

बॉक्स
रविवार की प्रात ग्राम बच्चावाला की दर्जनों महिलाएं ट्रेक्टर ट्रालियों से क्षेत्रीय भाजपा विधायक ओम कुमार के बिजनोर स्थित आवास पर पहुची और उनके खिलाफ विधुत कर्मियों द्वारा लिखवाया गया मुकदमा खत्म कराने और आरोपी विधुत कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही कराकर जेल भिजवाने की मांग की। विधायक ओम कुमार ने उन्हें इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया।