July 8, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

उत्तर पूर्वी दिल्ली- थाना शास्त्री पार्क क्षेत्र बना सट्टा हब, पुलिस की भूमिका है सन्दिग्ध, कार्यवाही के नाम पर होती है खाना पूर्ति

थाना शास्त्री पार्क क्षेत्र बना सट्टा हब, पुलिस की भूमिका है सन्दिग्ध। कार्यवाही के नाम पर होती है खाना पूर्ति।

थाना शास्त्री पार्क अंतर्गत कई जगह पर चल रहे हैं सट्टे के बड़े अड्डे। पुलिस को है सभी की जानकारी मगर नहीं होती कोई कार्रवाई।

राजधानी उत्तर पूर्वी दिल्ली थाना शास्त्री पार्क के अंतर्गत खुलेआम चल रहा है चिड़िया कबूतर ,अवैध जुआ, खुलेआम सट्टा

सूत्रों से पता चला है कि थाना शास्त्री पार्क के अंतर्गत शास्त्री पार्क रेड लाइट पर बबलू पंडित, रवि कालिया, सलीम, व सद्दीक नामक कुछ व्यक्ति बिना किसी डर के बेखौफ होकर सट्टा जुआ चिड़िया कबूतर जैसा गैरकानूनी कारोबार अवैध रूप से खुलेआम चला रहे हैं, क्षेत्रीय लोगों से पता चला है की इस गोरखधंधे को करने वालों का तकरीबन ₹2000000 डेली रोज का टर्न ओवर है, शास्त्री पार्क रेड लाइट पर रहने वाले लोगों और वहां पर दुकानदारों का कहना है कि यह गोरखधंधा शास्त्री पार्क थाने के बड़े अफसरों, थाने की क्रेक टीम एवं डिवीजन ऑफिसर और बीट अफसर की मिलीभगत से हो रहा है।

लोगों का यह भी कहना है कि एक SHO स्तर का अधिकारी बबलू पंडित के इस अड्डे पर कई बार आता जाता देखा गया है, लोगों का यह भी कहना है कि इनमे सभी के अड्डे पर रेड पड़ सकती है मगर बबलू शुक्ला उर्फ बबलू पंडित के अड्डे पर कभी भी रेड़ नहीं पड़ती है, ना ही पड़ सकती है क्योंकि बबलू पंडित के साथ इसमें किसी बड़े व्यक्ति की इंवॉल्वमेंट है. किसी बड़े व्यक्ति का बबलू पंडित के सिर पर हाथ है।

अब से कुछ देर पहले इस मामले में हमारी डीसीपी नॉर्थ ईस्ट से बात हुई तो उन्होंने बताया कि अभी 2 दिन पहले ही शास्त्री पार्क में सट्टे पर रेड की गई थी जिसमें 12 लोग अरेस्ट किए गए और ₹30000 की रिकवरी की गई।

हमने बबलू पंडित सहित इन तमाम सट्टा माफियाओं के बारे में डीसीपी नॉर्थ ईस्ट को बता दिया है। साथ ही यह भी बता दिया है कि इसमें बबलू शुक्ला उर्फ बबलू पंडित पर किसी बड़े व्यक्ति का हाथ है, और किसी बड़े व्यक्ति की सरपरस्ती में यह सट्टा चल रहा है।

देखने वाली और बड़ी बात यह है कि क्या डीसीपी नॉर्थ ईस्ट को इन सट्टे वालों के बारे में जानकारी मिलने के बाद मुख्य सट्टा माफिया को पुलिस पकड़ लेगी या नहीं या फिर दाएं बाएं 1/2 रेड और करके पुलिस अपने कर्तव्य की इतिश्री कर लेगी.

बड़ा सवाल यह भी है की पुलिस की नाक के नीचे चल रहे इतने बड़े सट्टे रैकेट के बारे में शास्त्री पार्क पुलिस के SHO स्तर के तीनों बड़े अधिकारियों का रोल क्या है इसकी जांच करके उन पर कोई कार्रवाई की जाएगी या नहीं या फिर बीट ऑफीसर जैसे किसी छोटे पुलिस अफसर को बलि का बकरा बना कर मामले को खत्म कर दिया जाएगा।

बीबीसी लाइव न्यूज़ के लिए राकेश गुप्ता की विशेष रिपोर्ट
.