October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

समाजसेवी की सक्रियता से मृत नेपाली मजदूर के पहुंचे परिजन,हुई पहचान


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

शाहिद नकवी

प्रयागराज। समाजसेवी की सक्रियता के चलते मंगलवार को चैदह नवम्बर को मृत लावारिस नेपाली मजदूर के परिजन पहुंचे और पोस्टमार्टम हाउस में उसकी पहचान ओखला डूंगा निवासी गंगाराम गौतम के रूप में किया। अन्त्य परीक्षण के बाद शंकरघाट पर उसका अन्तिम संस्कार किया।
नेपाल के ओखला डुंगा निवासी गंगाराम गौतम 52 वर्ष पुत्र स्वर्गीय बलराम गौतम का परिवार वर्तमान में दुधौली चार जिला सिन्धौली नेपाल में रहता है। घर पर उसकी पत्नी यमुना गौतम एवं दो बेटों का परिवार रहता है। गंगाराम गौतम जीवन यापन के लिए 19 अक्टूबर को शहर के शाहगंज थाना क्षेत्र के सब्जी मण्डी गढ़ी सराय स्थित एक होटल में काम करने के लिए आया। जहां वह काम करने लगा। 14 नवम्बर को अचानक गंगाराम गौतम की तबियत खराब हुई तो होटल के स्वामी ने उसे उपचार के लिए मोती लाल नेहरू जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां उसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। होटल स्वामी की सूचना पर शाहगंज थाने की पुलिस ने शव को लावारिस में पंचनामा करके चीरघर भेज दिया और उसके पास मिले आधार कार्ड को शोसल मीडिया में वायरल कर दिला।
मृतक नेपाली गंगाराम की फोटो जैसे अज्ञात गुमशुदा तलाश के ग्रुप एडमिन एवं समाजसेवी मो. आरिफ की पड़ी तो वह उसके परिजनों की खोज में लग गए। शाहगंज थाने की पुलिस से पूरी जानकारी जुटाने के बाद नेपाल के ओखल डुंगा पुलिस एवं नेपाल दूतावास नई दिल्ली को ईमेल भेजकर सूचना दी। जबतक वहां से कोई सूचना मिल पाती, इस बीच प्रयागराज नेपाली समाज के अध्यक्ष लक्ष्मी प्रसाद ज्ञावली से मो. आरिफ की मुलाकात हो गई। इस सम्बन्ध में उन्होंने पूरी जानकारी दी। सक्रियता ऐसी कि मो. आरिफ एवं नेपाली समाज के अध्यक्ष लक्ष्मी प्रसाद ज्ञावली की सूचना पर मृतक गंगाराम गौतम का बेटा दीपक प्रसाद गौतम एवं साला उत्तम कुमार सहित परिवार के अन्य लोग मंगलवार दोपहर बाद पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और उसकी शिनाख्त पिता के रूप में किया। विधिक कार्रवाई पूरी होने के बाद नेपाली समाज के सहयोग से शंकरघाट पर उसका अन्तिम संस्कार किया।