October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

40 साल पुराने बाल्मीकि मंदिर विवाद का ज़हीर फ़ारुकी ने 22 दिन में कराया निपटारा, बड़े बड़े नेता हो चुके थे फेल


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

*पुरकाजी से बड़ी खबर*

*40 साल पुराने बाल्मीकि मंदिर विवाद का ज़हीर फ़ारुकी ने 22 दिन में कराया निपटारा, बड़े बड़े नेता हो चुके थे फेल*

*30 साल पुराना नाली विवाद भी खत्म हुआ*
*जिला मुजफ्फरनगर*
*पुरकाजी:-* कस्बे के मोहल्ला दक्षिणी चमारान में करीब 40 साल पुराने बाल्मीकि मंदिर के लिए डॉक्टर आदित्य बल्लभ के परिजनों ने जगह दान में दी थी,उसी समय से उसके पास पठानों के बाग के रास्ते को लेकर विवाद चला आ रहा था। पूर्व विधायक फूल सिंह सौदाई के ज़माने में भी कई बार इस मामले के फैसले के विफल प्रयास हुए। दिवाली की रात बाल्मीकि समाज ने मंदिर की दीवार निर्मित की तो माहौल गरमा गया। पुरकाजी पुलिस सहित आलाधिकारियों ने मामले पर नज़र बनाकर काम रुकवा दिया था। पुरकाजी चेयरमैन ज़हीर फ़ारुकी और डॉक्टर आदित्य ने दोनों समाज के लोगो को समझा बुझाकर सर्वसम्मति से ऐसा फैसला कराया कि लोग देखते रह गए। 30 साल पुरानी विवादित नाली भी अपनी सही जगह पहुंच गयी। बाग़ मालिक को रास्ता मिल गया और 40 साल से रुके पड़े मंदिर की भी बाउंड्री हो गयी। चेयरमैन ने सहयोग के तौर पर 21000 रुपये बाल्मीकि मंदिर को दिए और हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया। मंदिर के लिए जमीन दानकर्ता डॉक्टर आदित्य ने फैसले का सारा श्रेय ज़हीर फ़ारुकी को दिया, जिन्होंने 40 साल पुराने विवाद का फैसला अपनी सूझ बूझ से करा दिया। फैसले से खुश हुए दोनों समाज के लोगो ने मंदिर के पास एक दूसरे के गले मे मालाएं डालकर स्वागत किया। इस मौके पर सेवाराम बाल्मीकि मैनपाल बाल्मीकि , नरेश बाल्मीकि शकील खान, इनाम फरीदी, शमशेर फरीदी , इरशाद फरीदी आदि सेकड़ो लोग मौजूद रहे…………।