July 8, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय – छात्रों ने संसद मार्च के दौरान किया जोरदार प्रदर्शन, जाम और मेट्रो सेवा हुई बाधित

छात्रों ने संसद मार्च के दौरान किया जोरदार प्रदर्शन, जाम और मेट्रो सेवा हुई बाधित
जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन संसद मार्ग तक पहुंच कर जोरदार प्रदर्शन किया। इससे पहले पुलिस की भारी व्यवस्था के बीच प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं ने रास्ता बदल लिया। इसके तहत पहले तो छात्र जेएनयू की ओर वापस मुड़े फिर स्वामी विवेकानंद मार्ग, हयात होटल और फिर सरोजनीनगर होते हुए लीला होटल पहुंच गए। पुलिस से कई बार नोकझोंक के बाद छात्र अपनी मांग पर अड़े रहे। वहीं, जेएनयू पैदल मार्च के कारण पूरा रिंग रोड जाम हो गया था। इसके अलावा अरविंदो मार्ग पर भी भीषण जाम लग गया।
इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने एक के बाद एक दूसरा बेरिकेड भी तोड़ दिया, लेकिन तीसरे बैरिकेड पर पुलिस ने उन्हें रोक दिया। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए अब तक 200-300 से अधिक छात्र-छात्राओं को हिरासत में लिया जिन्‍हें बाद में छोड़ दिया गया
बदरपुर, फतेहपुर बेरी, कालकाजी, दिल्ली कैंट थानों में हिरासत में लिए गये करीब 200 छात्रों को छोड़ा गया है। सभी को सीधे जेएनयू कैम्पस ले जाया जाएगा।
मानव संसाधन राज्‍यमंत्री संजय धोत्रे ने कहा कि जेएनयू ने काफी ऐसे होनहार छात्र इस देश को दिए हैं जो देश-विदेश में नाम कमा रहे हैं। हमारे विचार काफी अलग हो सकते हैं, लेकिन ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए।
छात्र और पुलिस के बीच लाठीचार्ज पर दिल्‍ली पुलिस के पीआरओ मनदीप ने बताया कि हमने छात्रों से कहा है कि मांगों को लेकर बात होनी चाहिए। कानून किसी भी हाल में हाथ में लें छात्र। हां जहां तक लाठीचार्ज की बात हो रही है इसकी जांच की जाएगी।
प्रदर्शन के कारण दिल्‍ली मेट्रो के चार स्‍टेशनों को बंद कर दिया गया है। इनमें उद्योग भवन, पटेल चौक, लोक कल्‍याण मार्ग और केंद्रीय सचिवालय स्‍टेशनों पर मेट्रो को नहीं रोका जा रहा है। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है
छात्रों की मांगों को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्री ने सोमवार तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। यह समिति सामान्य कार्यप्रणाली बहाल करने के तरीकों पर सुझाव देगी।
हॉस्टल फीस में भारी इजाफा के चलते जेएनयू प्रशासन और छात्रों के बीच टकराव खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है।
इससे पहले जेएनयू नॉर्थ गेट का बैरिकेड तोड़कर ढपली बजाते और नारेबाजी करते छात्र-छात्राओं का मार्च आगे बढ़ा। प्रदर्शन के दौरान छात्र फीस वृद्धि वापसी की मांग कर रहे हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक, जेएनयू के गेट पर बने बैरिकेड को तोड़कर 1000 से अधिक छात्र-छात्राएं संस्थान से बाहर आ चुके हैं। वहीं, पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए मोर्चा संभाल लिया है।
जेएनयू के गेट के बाहर बैरिकेड लगाकर पुलिस ने मैन गेट बंद कर दिया है। पुलिस की तैयारी है कि आगे बढ़ना तो दूर गेट पर ही प्रोटेस्ट मार्च रोक दिया जाय।
प्रदर्शन की कड़ी में बड़ी संख्या में जेएनयू के छात्र गेट की ओर बढ़ रहे हैं। इस दौरान दिल्ली पुलिस ने पूरे गेट को घेरा हुआ है। वहीं, भारी संख्या में संस्थान के बाहर पुलिस जवानों को तैनात किया गया है।
प्रदर्शनकारी छात्रों ने अपना मार्च सफल बनाने के लिए अन्य विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं से भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की है।
जेएनयू छात्र बढ़ी हुई होस्टल फीस समेत कई मुद्दों को लेकर विरोध स्वरूप जेएनयू से सांसद तक मार्च निकाल रहे हैं। इसकी सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फ़ोर्स लगाई हैं, जिनमें पैरा मिलिट्री फ़ोर्स भी शामिल है। वहीं, सुरक्षा के बाबत करीब 1200 पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं जिनमें दिल्ली पुलिस भी शामिल है। सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं।
यहां पर बता दें कि जेएनयू प्रशासन द्वारा हॉस्टल फीस बढ़ान के विरोध में जेएनयू के छात्र पिछले तीन सप्ताह से भी अधिक समय से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

बीबीसी लाइव न्यूज़ के लिए दीपक कुमार व बीरेंद्र कुमार के साथ राकेश गुप्ता की विशेष रिपोर्ट