October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी द्वारा सोने की पालकी गुरुद्वारा नानक प्याऊ में सुशोभित


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी द्वारा सोने की पालकी गुरुद्वारा नानक प्याऊ में सुशोभित

नवीनीकरण के बाद हॉल, पार्किंग व जोड़े घर का भी हुआ उद्घाटन

सिरसा ने संगतों को प्रकाश पर्व के कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर शामिल होने के लिए अपील की

नई दिल्ली, 7 नवंबर (मनप्रीत सिंह खालसा):- दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा संगत के सहयोग से तैयार करवाई पालकी गुरुद्वारा नानक प्याऊ में सुशोभित कर दी गई है। आज यहां गुरुद्वारा साहिब हॉल के नवीनीकरण के पश्चात, पार्किंग और जोड़े घर का उद्घाटन पूरी गुरु मर्यादा के अनुसार किया गया।

इस मौके पर मौजूद संगत को संबोधित करते हुए दिल्ली कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि यह गुरुद्वारा गुरु नानक देव जी की चरन छोह प्राप्त स्थान है। आज गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व सारी दुनिया में मनाया जा रहा है और सिर्फ सिख ही नहीं बल्कि नानक नाम लेवा संगत पूरी दुनिया के अंदर यह गुरुपर्व मना रही है। उन्होंने कहा कि हम भाग्यशाली है कि हमारे जीवन में ऐसा सौभाग्य वाला दिन आया है जब हम गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व मना रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दुनिया में बड़े-बड़े पीर पैगंबर हुए पर पिछले 50 वर्षों में एक भी ऐसा कार्यक्रम नहीं नज़र आया जब पूरी दुनिया में अलग-अलग देशों के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति ने गुरु नानक देव जी के आगे अकीदत पेश की हो।

स. सिरसा ने कहा कि इस प्रकाश पर्व पर सब से बड़ा तोहफा करतारपुर साहिब कारीडोर है जिसकी चर्चा रहती दुनिया तक रहेगी। उन्होंने कहा कि हम देश में 2 फीसदी व दुनिया में 1फीसदी से भी कम हैं। पर इस प्रकाश पर्व पर बने करतारपुर साहिब कारीडोर की महतत्ता इतनी है कि दुनिया के हर देश का राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री उसकी बात कर रहा है। उन्होंने कहा कि जब 9 नवंबर को कारीडोर का उद्घाटन होगा तो सारी दुनिया के चैनल इसकी चर्चा कर रहे हांेगे। ऐसा इसलिए नहीं कि यह सरकारें कर रही हैं बल्कि इसलिए कि गुरु नानक देव जी के घर की अपार बख्शिश है।

स. सिरसा ने कहा कि दुनिया में अलग-अलग धर्मों के लोग गुरु साहिब का नाम जप रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम प्रयास करें कि जिनके पास गुरु नानक देव जी का संदेश व उपदेश नहीं पहुंचा, उनके पास पहुंचाया जा सके। इसके लिए दिल्ली कमेटी प्रयासरत है और संगत का अथाह सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी ने संवाद रचाने का संदेश दिया था और हमें इस रास्ते पर चलना चाहिए।

स. सिरसा ने कहा कि माया बहुत दुनिया के पास है पर अकाल पुरख सिर्फ उनसे ही सेवा लेता है जिन्हें योग्य समझता है। उन्होंने कहा कि जिन संगतां ने इसके लिए योगदा डाला है हम उनके आगे सीस झुकाते हैं और संगत का धन्यवाद करते हैं।

उन्होंने यह भी अपील की कि 11 नवंबर को गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व को समर्पित नगर कीर्तन सजाया जायेगा जिसमें ज्यादा से ज्यादा गिनती में संगत पहुंचे। उन्होंने बताया कि 12 तारीख को दिल्ली के हर गुरुद्वारा साहिब में बड़े कार्यक्रम किये जा रहे हैं। 9,10 और 11 तारीख को भी कीर्तन दरबार सजाये जायेंगे।

उन्होंने बाबा बचन सिंह, बाबा महिंद्र सिंह, दमदमी टक्साल के मुखी बाबा हरनाम सिंह खालसा का धन्यवाद किया जिन्होंने यहां हॉल का नवीनीकरण किया और पालकी की सेवा की।

इस मौके पर कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका ने संबोधित करते हुए कहा कि गुरुद्वारा नानक प्याऊ के हॉल का बहुत ही अच्छा सुंदरीकरण किया गया, पार्किंग बेसमेंट बनाई गई और जोड़ेघर का नवीनीकरण किया गया और यह सभी कार्य संगत के सहयोग से ही सपूंर्ण हुए हैं। उन्होंने संगत को 550वें प्रकाश पर्व कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर शामिल होने का निमंत्रण दिया।