October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

शराबी पति ने दुधमुहे 3 माह की बच्ची को पत्नी के मायके से ले भागा, महिला थाना में शिकायत के बाद किया वापस,12 घंटे बाद मिली बच्ची को माँ का दूध


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

रायपुर। अयोध्या चतुर्वेदी पिता मोतीलाल चतुर्वेदी उर्म 27 वर्ष के द्वारा शराब के नशे में अपने ही 3 माह के बच्ची को सुबह तकरीबन 6 बजे नशे की हालत में पत्नी प्रीति चतुर्वेदी के पिता के घर ग्राम नटकी से ले भागा। जिसकी शिकायत करने पीड़िता पहुची माना कैम्प थाना जहाँ से पीड़िता को रायपुर महिला थाना भेजा गया। पीड़िता ने रायपुर के महिला थाना में अपने पति के विरुद्ध शराब पीकर मारपीट और बच्चे को वापस दिलाने की गुहार लगाई है। शिकायत के बाद महिला थाना के द्वारा पीड़िता के पति को तुरंत बच्चे को माँ के पास वापस छोड़ने की हिदायत दी गई। घटना के 12 घंटे बाद बच्ची को महिला थाना में आकर अयोध्या चतुर्वेदी पति के द्वारा बच्ची के माँ और परिजनों के सुपुर्द किया गया है। पूर्व में भी पीड़िता पक्ष के द्वारा शिकायत में पति के द्वारा मारपीट की घटना किए जाने से अवगत कराया गया है।

हाल ही मे हुए शराबी पिता के द्वारा अपने ही दो बच्चों को शराब के नशे में मौत के घाट उतारे जाने की घटना के बाद भी पुलिस ने इतनी लापरवाही पूर्वक बच्चो के मामलों को लेकर नारमता पूर्वक विवेचना किया है।जो कि एक माँ के लिए विचारात्मक है।क्योंकि शराब के नशे में कई घटना एसे प्रकाश में आई है जिसमे छोटे बच्चों को शराबी पिता के द्वारा मौत की नींद सुला दी गई है।

प्रीति के इस मामले में भी महिला थाने के द्वारा कोई ठोस कदम नही उठाया गया न ही अयोध्या (पति) के खिलाफ कोई त्वरित में कार्यवाही की गई और न ही बच्चे को जब शराबी पति ने वापस करने आया तो कोई कार्यवाही की गई। एक छोटी सी समझाइस देकर 26 को आना बोलकर वापस भेज दी गई।

प्रीति के पिता के घर बिना बताए बच्चे को शराबी पति व पिता अयोध्या का शराब के नशे में घर से लेकर भागना एक संगीन अपराध को जन्म दे सकता था। क्योंकि पहले भी शराबी पिता के द्वारा बच्चो को मौत के घाट उतारा जा चुका है।

बच्चे को लेकर भागने की घटना को लेकर बच्चे के माँ और बच्चे के नाना काफी दुःखी परेशान चिंतित थे।घटना के बाद से ही समझदारी दिखाते हुए थाने में शिकायत की गई। जिस वजह से शराबी पिता के परिजनों ने बच्चे को माँ के सुपर्द करने की सलाह दी जिस वजह से बच्चे को सकुशल प्रीति माँ के सुपुर्द किया गया।