October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

शाइनिग इंडिया की बात करते लोग कभी भी समय मिले तो गरीबो की बस्ती में भी नजर आइये


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

इस चित्र के माध्यम से असली भारत को जानने की कोशिश करे, समाज मे बहुत से लोग आपको चक्की चौराहे व अन्य यात्रा में ज्ञान देते मिलते है कि सरकार अच्छा काम कर रही है। आज मैं भारत की उस असलियत को लिख रहा हूं जिस से आपकी रूह कांप जाएगी आप कभी भी समय मिले तो गरीबो की बस्ती में भी यात्रा करते नजर आइये। हम कहा रह रहे है आज लोगो की सवेंदना मरती जा रही है। सरकार की हर नीति निर्माण में आपका सहयोग हॉइ रहना भी चाहिए लेकिन आपको सवाल भी करना चाहिए इनकी गरीबी के लिए जिम्मेदार कौन है। ये वो बच्चे है जो कभी भी कैमरे की नजर में नही आएंगे लेकिन सच यही है कि देश का बच्चा कुपोषण से मर रहा है। देश का बच्चा भोजन के बगैर मर रहा है।
जब आप समाज के लिए कुछ सोचेंगे तो दिल मे एक दर्द दिखेगा और आपको नीद नही आएगी। क्या आपने कभी सोचा कि की गरीब व्यक्ति नशा क्यों करता है। मुझे जो लगता है जब व्यक्ति को उसकी आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति नही होती है तो वह रात में नीद नही ले पाता है, तो नीद कैसे आये समाज उसके इतना घृणित निगाह से देखता है कि वह दारू या अन्य नशा की शुरुआत कर देता है फिर उसी में लिप्त हो जाता है।
कल मैं एक मित्र से पूछ रहा था कि तैयारी करने वाले युवा नशा क्यों करते है हमारे भी कुछ मित्र है उनसे जानने की कोशिश किया तो मिझे लगता है कि समाज तैयारी करने वाले युवाओं से इतना अपेक्षा करता है कि वह समाज से बाद में अपने आप को अलग करता जाता है। फिर यही युवा उसकी लत में पड़ जा रहा है।
सवाल यही है आज हम सबकी सवेंदना मरती जा रही है। आप एक ac कमरे से देश का निर्माण करने की कल्पना कर रहे है। आज जो भी व्यक्ति आगे है वही समाज को आगे बढ़ने नही दे रहा है।
समाज की मूलभूत आवश्यकताओं में शिक्षा और स्वस्थ जीवन है लेकिन हमारे देश मे सबसे कम बजट है। क्या आपने कभी आंदोलन किया नही किया क्यों करेंगे। आप नही कर सकते तो जो कर रहा है उसका साथ तो दीजिये।
अभी एक दो हमारे व्हाट्सएप मित्र फ़ोन करके बता रहे थे कि पढ़ लिखकर आगे बढ़ो तब समाज सेवा करो।
उन्ही और आप सबसे सवाल है जो सलाह आप लोग हमको देते है क्या आप लोग फॉलो करते है क्या हम तो रोजगार में नही है आप सही कह रहे है लेकिन क्या आपने किया नही क्यों करेंगे?
चुकी ये सब आपके बच्चे थोड़ी है दर्द उसकी माँ को नही हुआ होगा क्यों समाज इसलिए पिछड रहा है चुकी आप लोग पढ़ लिख लिए हैं लेकिन अभी शिक्षित नही हुए है। कम से कम साथ नही दे सकते है तो अच्छी सलाह दे दीजिए आपका भी दायित्व है।
समाज आपसे भी कल सवाल करेगा जाति से हटकर सवाल करे । दिल्ली में अब किसान ही नही मरेगा बस आपका भी नम्बर आ रहा है जग जाइये और आवाज करे फिर से कुछ नया करे आपसे ही समाज का निर्माण होना है।

प्रभाकर सिंह रिसर्च स्कॉलर इलाहाबाद विश्वविद्यालय।