October 30, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

जहरीली हवा सोखने के लिए मजबूर है दिल्ली एनसीआर के लोग। जानलेवा स्तर को भी पार कर गया प्रदूषण।


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

दिल्लीवासी इस समय प्रदूषण की मार झेल रहे हैं जिसके चलते बच्चों की सुरक्षा को लेकर सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं और दिल्ली इस समय जहरीली हवा का गुब्बारा बनकर रह गई है

राजधानी दिल्ली और एनसीआर की हवा लगातार खराब होती जा रही है. हालात ऐसे हो गए हैं कि दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी लगानी पड़ी है. 5 नवंबर तक स्कूलों में भी छुट्टी का ऐलान कर दिया गया है. वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मे भी प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए आपात बैठक की. इसके अलावा पंजाब, हरियाणा सरकार को पराली पर सख्ती से रोक लगाने को कहा गया है.

दिल्ली वासियों के लिए इस समय दिल्ली में रहना खतरे से खाली नहीं है क्योंकि दिल्ली की आबोहवा में इतना जहरीला प्रदूषण भर गया है जहां पर लोगों को सांस लेना भी मुश्किल हो रहा है

  • दिल्ली-एनसीआर में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण
  • प्रदूषण के कारण दिल्ली में 5 नवंबर तक स्कूल बंद
  • स्मॉग और प्रदूषण पर सीएम योगी ने की आपात बैठक
  • प्रदूषण से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश

दिल्ली से लेकर उत्तर प्रदेश तक सांसों पर धुएं और जहरीली हवा का कहर जारी है. राजधानी दिल्ली में स्कूल बंद करने के साथ हेल्थ इमरजेंसी लागू कर दी गई है तो वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदूषण के बढ़ते स्तर को लेकर आपात बैठक बुलाई.

प्रदूषण से बचने के लिए सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं और जगह-जगह समाजसेवी लोग प्रदूषण से बचाने के लिए लोगों को मार्क्स बांट रहे जिससे लोगों को सांस लेने में परेशानी ना हो आज सुबह से ही दिल्ली में चारों और दिल्लीवासियों को खतरे से ऊपर प्रदूषण में सांस लेनी पड़ रही है बच्चों और बड़ों को जहरीले आबोहवा में सांस लेना मुश्किल हो रहा है जिससे किसी भी समय दिल्ली में कोई प्रदूषण को लेकर बड़ी बीमारी पैदा हो सकती है लोग अपने अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं क्योंकि जैसे ही बाहर रोड पर आया जा रहा है तो लोगों को सांस लेने में और आंखों में मिर्ची लग रही है जिसकी वजह से लोग सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है इतनी जहरीली हवा में आखिर दिल्ली वालों को कैसे निजात मिले ।

वहीं जब आनंद विहार की बात की जाए तो अबसे कुछ समय पहले हवा का इंटेक्स 600 की लगभग था और अब 1600 के पार हो गया है जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है की पूरी दिल्ली के अंदर प्रदूषण का स्तर अपनी चरम सीमा पार कर चुका है जिससे यहां लोगों का रहना भी मुश्किल हो गया है बच्चे और बड़ों को देखा गया कि उन्हों को खांसी जुखाम गले में दर्द की ज्यादा परेशानी हो रही है इस प्रदूषण से जिसकी वजह से जीवन नर्क से भी बदतर बन गया है इस से कब छुटकारा मिलेगा

वायु प्रदूषण और स्मॉग के चलते दिल्ली-एनसीआर की हवा बेहद खराब हो गई है. यूपी के कई हिस्सों में भी हवा जहरीली हो गई है. बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार देर शाम संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की. जिसमें फैसला लिया गया कि जहां भी निर्माण कार्य किया जा रहा है उसे कवर किया जाए. इसके अलावा जिन जगहों पर धूल हो वहीं पानी का छिड़काव किया जाए. कूड़े का सही निस्तारण किया जाए.


पराली जलाने से हवा की गुणवत्ता खराब

पंजाब और हरियाणा में प्रतिबंध के बावजूद लगातार पराली जलाए जाने के कारण दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता बहुत ज्यादा बिगड़ गई है. सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) इंडिया के अनुसार, दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 412 पर पहुंच गया है जो गंभीर श्रेणी में आता है.

बीबीसी लाइव न्यूज़ के लिए राकेश गुप्ता के साथ रवि डालमिया