October 26, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

इंदिरापुरम पुलिस ने पांच लुटेरों को किया गिरफ्तार कई वारदातों का खुलासा


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

इंदिरापुरम पुलिस ने पांच लुटेरों को गिरफ्तार किया है। लुटेरों से हुई पूछताछ के आधार पर इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में दूध कारोबारी से हुई लाखों रुपए की लूट की वारदात के अलावा मुरादनगर क्षेत्र में टोलकर्मी से हुई लूट की वारदातों को खुलासा हुआ है। गिरफ्तार बदमाशों के पास से लूट की दोनों वारदातों से संबंधित ढाई लाख रुपए की नकदी, वारदातों में प्रयुक्त बाइक तथा स्कूटी व हथियार बरामद किये हैं। गिरफ्तार बदमाशों से और भी वारदातों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि इंदिरापुरम पुलिस ने वसुंधरा रेड लाईट के पास से पांच लुटेरों कपिल मावी, संजीव उर्फ संजू, रोहित उफ डला, संदीप कुमार जाटव व सोकेंद्र उर्फ सोनू को गिरफ्तार किया है। पांचों लुटेरे शातिर किस्म के अपराधी हैं और एनसीआर के अलावा अन्य राज्यों में भी लूटपाट की वारदातों को अंजाम देते हैं। एसएसपी ने बताया कि पांचों बदमाशों में सोकेंद्र नामक बदमाश गढ टोलप्लाजा का कर्मचारी है और उसने ही बदमाशों को मुखबिरी कर मुरादनगर टोलप्लाजा की जानकारी दी थी। जिसके आधार पर बदमाशों ने टोलकर्मी से 22 अक्टूबर की रात सवा बारह बजे उस समय हजारों की नकदी लूट ली थी जब वह कलेक्शन की रकम को पास ही स्थित कार्यालय में जमा करने जा रहा था। इस दौरान विरोध करने पर बदमाशों ने टोलकर्मी को गोली मारकर घायल कर दिया था।

इससे अलग इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में भी 16 अक्टूबर को दिन-दहाडे अमूल दूध के डिस्ट्रीब्यूटर से हथियारों के बल पर साढे तीन लाख रुपए की नकदी लूट ली थी। एसएसपी ने बताया कि उपरोक्त दोनों वारदातों को गिरफ्तार बदमाशों ने ही अंजाम दिया था। दोनों वारदातों में लूटी गई नकदी में से पुलिस ने दो लाख 61 हजार रुपए की नकदी बरामद की है। इससे अलग पूछताछ करने पर बदमाशों ने बताया कि वह त्यौहार के मौके पर जयपुर के सर्राफा कारोबारियों का डेढ़ से दो करोड़ रुपया लूटने जा रहे थे। यह रकम क्रेटा गाड़ी में रखकर ले जाई जानी थी। इससे अलग गढ टोलप्लाजा पर भी लूट की योजना बदमाशों ने बनाई थी।

एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों में सोकेद्र नामक बदमाश गढ टोल पर कार्य करता था और उसने ही मुरादनगर टोल पर हुई लूट के लिए मुखबिरी की थी। गढ टोल पर भी वह लूट कराने वाला था, इससे पहले ही पुलिस ने बदमाशों को दबोच लिया। एसएसपी ने बताया कि मुरादनगर के टोल प्लाजा व इंदिरापुरम में हुई लूट की वारदातों में चार-चार बदमाश शामिल थे। दो बदमाश बाइक पर और दो बदमाश स्कूटी पर थे।

कई राज्यों पर फैला है बदमाशों को जाल

एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों को जाल कई राज्यों तक फैला है और पकडे़ गए बदमाश एनसीआर क्षेत्र में लूट की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। बदमाशों से पूर्व में की गई वारदातों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। जिससे की उपरोक्त वारदातों को भी खुलासा किया जा सके। उन्होंने बताया कि बदमाशों में शामिल तीन बदमाश एक ही गांव के रहने वाले हैं और उन्होंने अपने-अपने मुखबिर भी छोड़ रखे हैं। सूचना मिलते ही वारदात करने निकल जाते हैं।

सीसीटीवी से हुई लुटेरों की पहचान

इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में 16 अक्टूबर को दूध कारोबारी से हुई लूट की वारदात को लेकर एसएसपी ने बताया कि वारदात के दौरान बदमाशों की फोटो घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई थी। बदमाशों की गिरफ्तारी के बाद सीसीटीवी कैमरों में कैद हुई फुटेज से बदमाशों को मिलान कराया गया था, जो कि सही पाया गया।

पुलिस टीम को एसएसपी ने दिया 25 हजार का ईनाम

अंतर्राज्जीय लुटेरों की गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को एसएसपी ने 25 हजार रुपए का ईनाम देने की घोषणा की है। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि इंंदिरापुरम थाने की पुलिस ने एक सराहनीय कार्य किया है। एक तरफ जहां लूट की दो वारदातों का खुलासा किया है वहीं निकट भविष्य में होने वाली लूटी दो वारदातों को होने से टाल दिया।