October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

आधुनिक युग में धनतेरस का सही मायने में महत्व समझे


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

मुकेश सिंह चौधरी (Russia)

आधुनिक युग में धनतेरस का सही मायने में महत्व समझे

           भारतीय संस्कृति और परंपरा का प्रतीक धनतेरस कार्तिक त्रयोदशी को मनाया जाता है। वर्तमान परिपेक्ष में धनतेरस का मूल महत्व हम और हमारी आधुनिक पीढ़ी समझ ही नहीं पा रही ह।  हमारी पुरातन मान्यता के अनुसार इसी दिन भगवान धनवंतरी समुंद्र मंथन के समय अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे जिससे शारीरिक यानी काया के कष्ट ना हो और स्वास्थ्य  अच्छा रह।  भगवान धन्वंतरी आयुर्वेद के जनक का जन्म भी इसी दिन हुआ था इसीलिए सही मायने में  कार्तिक त्रयोदशी को अमृत कलश लेकर प्रकट होने का मकसद स्वास्थ्य को लेकर था क्योंकि जैसे हमारी एक पुरानी कहावत है कि पहला सुख निरोगी काया। लेकिन आज के समय में  हम रास्ता भटक गए और इस दिन को स्वास्थ्य से संबंधित न लेकर इस भौतिकवादी युग में खरीदारी को महत्व देते हैं।
               वर्तमान समय में हमें अपनी भारतीय संस्कृति व परंपरा को संजोए रखने के लिए इसके प्रति जागरूक होना होगा क्योंकि शारीरिक कष्ट मानव जाति के लिए सबसे बड़ी समस्या है जैसा कि हम जानते हैं अधिकतर घरों में कोई न कोई हर समय बीमार रहता ही है यानी कि वह घर एक मिनी मेडिकल स्टोर बन चुके हैं इसीलिए क्यों न कुछ ऐसा किया जाए की जिससे अपनी भारतीय संस्कृति और परंपरा के साथ-साथ स्वास्थ्य के प्रति लोग जागरूक हो क्योंकि स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है  अगर हम स्वस्थ नहीं  तो  दौलत हमारे क्या काम की  इसके लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि स्वास्थ्य संबंधी अधिकतर समस्याएं क्यों आती है स्वास्थ्य संबंधी अधिकतर समस्याएं सामान्य तौर पर वर्तमान परिस्थितियां जैसे खान पान वाह वातावरण वे जागरूकता ने होने के कारण आती है
                 मेरे 19 साल के शोध व अनुभव के आधार पर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का कारण व्यक्तिगत व घर की ऊर्जावान प्रतिरक्षा प्रणाली है। जैसे हम देखते हैं कि कई परिवारों में बीमारियों का एक सर्कल रहता है कि घर में एक सदस्य ठीक हुआ उसके बाद दूसरा बिमार हो जाता है फिर तीसरा, यह चक्कर लगातार चलता रहता है जिससे शारीरिक कष्ट के साथ-साथ मानसिक व आर्थिक नुकसान भी होता है। ऐसी स्थिति में उस घर की #ऊर्जावानप्रतिरक्षाप्रणाली असंतुलित होती है और यदि कोई एक ही व्यक्ति बीमार है तो इसका वैज्ञानिक कारण उसका इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली का कमजोर होना होता है लेकिन अगर वह बार-बार बीमार हो रहा है तो मेरे अनुसार उसकी प्रतिरक्षा प्रणाली के बार-बार कमजोर होने का कारण उसकी ऊर्जावान प्रतिरक्षा प्रणाली का असंतुलित होना होता है जिसके कारण उसे शारीरिक मानसिक व आर्थिक कारण परेशानियां झेलनी पड़ती है।
               आओ इस धनतेरस के पावन पर्व पर हम सब मिलकर अपनी भारतीय संस्कृति व परंपरा को संजोए रखने के लिए एक परिवार एक सदस्य अभियान के तहत लोगों को जागरूक करें इसके लिए मैंने अपने हिंदी पेज https://m.facebook.com/uniquerahasyalogy  पर एक परिवार एक सदस्य अभियान के माध्यम से Ubulletin ऑडियो प्रोग्राम शुरू किया गया है जिसके तहत कोई भी व्यक्ति अपनी जटिल समस्याओं के कारण जानने के लिए अपनी समस्या, जन्म तारीख, नाम व पता लिखकर पेज या उस पर दिए हुए नंबर पर व्हाट्सएप संदेश कर सकता है जिससे उन्हें उनकी जटिल समस्याओं का निशुल्क कारण Ubulletin प्रोग्राम में बता दिया जाएगा। 

एकपरिवारएकसदस्यअभियान #Ubulletin #uniquerahasyalogy