October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

रूदौली रेलवे क्रासिंग खुलवाने को लेकर रेलवे प्रशासन पर भड़के भाकियू कार्यकर्ता


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

रूदौली रेलवे क्रासिंग खुलवाने को लेकर रेलवे प्रशासन पर भड़के भाकियू कार्यकर्ता

जमकर नारेबाजी कर डीआरएम लखनऊ का किया घेराव

मौके पर पहुंची एडीआरएम प्रशासन ने डी आर एम् से वार्ता कराके किसानों का गुस्सा कराया शांत

भेलसर(अयोध्या) रूदौली रेलवे क्रासिंग खुलवाने के लिए किसान यूनियन ने लखनऊ में जाकर डीआरएम् कार्यालय को घेरा।डीआरएम् ने रेलवे क्रासिंग खुलवाने का आश्वासन देकर किसान यूनियन कार्यकर्ताओ को शांत कराया।
बता दें कि रूदौली भेलसर मार्ग पर स्थित रेलवे क्रासिंग खुलवाने को लेकर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने बीते 25 सितंबर को डीआरएम ऑफिस लखनऊ पर घेराव किया उसके बाद डीआरएम से घंटों भर वार्ता के बाद डीआरएम ने भेलसर रुदौली मार्ग पर रेलवे क्रॉसिंग संख्या 143 बी को खुलवाने का आश्वासन दिया था।माँ दुर्गा मूर्ति विसर्जन के लिए क्षेत्रीय विधायक राम चन्द्र यादव,किसान यूनियन नेता व् व्यापर मण्डल के प्रयास से 29 सितंबर को रास्ता खोला गया लेकिन 11 अक्टूबर को फिर से रास्ता बंद कर दिया गया।विधायक राम चन्द्र यादव,संसद लल्लू सिंह व् भाकियू के प्रदेश सचिव दिनेश दुबे ने डीआरएम एनआर वह जिलाधिकारी से वार्ता की डीआरएम लखनऊ स्वयं दिनांक 19 अक्टूबर को फैजाबाद आए उसके बाद डीआरएम अयोध्या जंक्शन का निरीक्षण कर रूदौली छोड़ दरियाबाद पहुँच गए बाद में व्यापारी नेता राजेश गुप्ता की शिकायत पर संसद लल्लू सिंह ने दूरभाष के माध्यम से उनसे वार्ता की तो डीआरएम दरियाबाद से ट्रेन छोड़कर फोर व्हीलर से रुदौली स्टेशन आकर रेलवे क्रॉसिंग का निरीक्षण किया और टेक्निकल टीम गठित कर रास्ता खुलवाये जाने का आश्वासन देकर चले गए।टेक्निकल टीम ने 21 अक्टूबर को रेलवे क्रासिंग निरीक्षण कर डीआरएम लखनऊ को अपनी रिपोर्ट भेजी।टीम ने अपनी रिपोर्ट में लिखा कि रेलवे क्रासिंग नहीं खोली जा सकती है। यह रिपोर्ट अधिशासी अभियंता निर्माण बनवारी लाल के माध्यम से बनाकर भिजवाई गई।यह जानकारी होते ही भाकियू कार्यकर्ता भड़क गए और प्रदेश सचिव श्री दुबे की अगुवाई में लखनऊ कार्यालय पहुंच गए और धरने पर बैठ गए श्री दूबे ने बताया कि अधिशासी अभियंता निर्माण बनवारी लाल आए और कहा कि आप लोग घर जाइए रास्ता नहीं खुलेगा।बताया कि वहां 19 मीटर ही जगह है 19 मीटर में हमें पुल बनाना है।इस लिए रास्ता नही दिया जा सकता है।यह सुनकर श्री दुबे कार्यालय पर ही धरने पर बैठ गये व नारेबाजी शुरू की तब जाकर एडीआरएम प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर आक्रोशित किसानों का गुस्सा शांत कराया उन्होने साथ ले जाकर डीआरएम से वार्ता कराई।वार्ता में श्री दुबे ने कहा गन्ना किसानों की ट्राली,एंबुलेंस,गाड़ी,स्कूली बच्चे,वादकारी,गर्भवती महिलाएं व वृद्ध लोग उसी रास्ते से आना जाना था लेकिन गढ्ढ़ा खोद देने से वह रास्ता पूर्ण रूप से बंद हो गया है।दिवाली का त्यौहार भी है तथा आगामी नवम्बर माह से किसानों का गन्ना पिराई सत्र भी शुरू हो रहा है।किसानों का गन्ना जाने के लिए कोई भी रास्ता नहीं है।जो वैकल्पिक रास्ता बनाया गया है उसमें बड़े-बड़े गड्ढे हैं रौजागांव रुदौली मार्ग में नवाब बाजार के पास रोड बहुत सकरा है।उस रास्ते से गन्ना नहीं जा पाएगा इसलिए आने वाले समय में बहुत ही दिक्कतें होंगी शासन प्रशासन इस दिक्कत को झेलने में असहाय होगा इसलिए रेलवे क्रासिंग खोली जाए।श्री दुबे बताया कि स्थल पर लगभग 22 मीटर जमीन खाली है 19 मीटर में उन्हें पुल बनाना है साढ़े 3 मीटर जमीन में रास्ता बना दिया जाए न आम जनता को दिक्कत होगी और न ही आपके रेलवे विभाग के विभाग में बाधा पहुंचेगी।
डीआरएम श्री संजय त्रिपाठी व एडीआरएम प्रशासन डॉ0 वीणा कुमारी ने आश्वासन दिया कि आप लोग घर जाइए रास्ता खुलेगा हम भी आम जनता का अहित नही चाहते है और उन्होंने कहा अगर किसी ने गलत रिपोर्ट बनवाई है तब उनके खिलाफ भी सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी

अब्दुल जब्बार एड्वोकेट व् डॉ0 मो0 शब्बीर के साथ नितेश सिंह की रिपोर्ट