July 8, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

क्यों नही आती है तुझको लाज अब्दुल्ला

क्यों नही आती है तुझको लाज अब्दुल्ला,
बजाता तू बगावत का घटिया साज अब्दुल्ला।

**
खाता हिन्द की, वाणी मगर बोले रकीबों की,
अगरचे हिन्द के कारण तेरी परवाज़ अब्दुल्ला।
**
रहे सी एम की कुर्सी पे काबिज़ तू कयामत तक,
पाले हैं इसी चलते ये पत्थरबाज अब्दुल्ला।
**
भारत जंग करता है तो होगी भूल भारत की,
तेरी इस बयानबाजी का क्या है राज अब्दुल्ला।
**
तू पाकिस्तान का मोहरा, सभी ने देखा जाना है,
भारत मुर्दाबाद की देता तू ही आवाज़ अब्दुल्ला।
**
नोट:- अब्दुल्ला की जगह महबूबा और अन्य पाकिस्तान परस्त नेताओं को भी रखा जाए।
फिर शेर ऐसे बनेगा
” क्यो नही आती है तुझको लाज महबूबा,
बजाती तू बगावत का घटिया साज महबूबा।”