October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

अद्भुत चित्रों का संगम है आर्टिस्ट अड्डा की प्रदर्शनी ; प्रोफेसर संगीता


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71
  • (शाहिद नकवी)
    प्रयागराज। महात्मा गांधी कला वीथिका उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र में शहर के चित्रकारों का समूह ‘आर्टिस अड्डा’ की प्रथम चित्रकला प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है।इस शानदार प्रदर्शनी में एक से एक बढ़ कर आला दर्जे की कलाकृतियां शहर के लोगों को देखने को मिली। इलाहाबाद वैसे भी कला प्रेमियों का शहर है। सबसे बड़ी बात लोगों में दिलचस्पी के साथ कला के भाव, संदेश और मर्म को समझने की आला समझ भी है।प्रदर्शनी का उद्घाटन आज मुख्य अतिथि प्रोफेसर राजेंद्र सिंह रज्जू भैया राज्य विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव के कर कमलों के द्वारा संपन्न हुआ। उन्होंने समसामयिक एवं परंपरागत चित्र में कलाकारों की छवि प्रस्तुत करते हुए कहा ‘जहां न जाए रवि वहां जाए कवि’ कहावत को चरितार्थ करती है। ‘आर्टिस्ट अड्डा’ की प्रदर्शनी अद्भुत चित्रों का संगम ।कलाकारों ने हमारा दिल जीत लिया।और कहा कलाकारों का आमजन से अलग समाज और देश के प्रति दायित्व भी अलग होता है। उन्होंने आर्टिस अड्डा की प्रदर्शनी में शामिल चित्रकारों द्वारा विश्वविद्यालय में एक कार्यशाला आयोजित करने की बात का वादा भी किया।विशिष्ट अतिथियों में जस्टिस सुधीर नारायण, प्रोफेसर अली अहमद फातमी, लेफ्टिनेंट कर्नल सैयद अबरार अहमद, सीनियर फोटोग्राफर आरके टंडन ने चित्रकारों की हौसला अफजाई किया। प्रदर्शनी में गेस्ट आर्टिस्ट जस्टिस सुधीर नारायण, चित्रकारों में तलत महमूद, कसीम फारुकी, राजेंद्र भारती, डॉक्टर जूही शुक्ला, डॉक्टर कावेरी विज, नागेंद्र प्रसाद श्रीवास्तव, डॉक्टर जाहिदा खानम, नीता श्रीवास्तव, डॉ. नीलिमा श्रीवास्तव, रविंद्र कुशवाहा एवं मूर्तिकार नगीना राम शामिल रहे। शामिल होने वालों में मुख्य रूप से महालेखाकार, एस अाल्हादीनी पांडा, डॉ. अभिनव गुप्त, वरिष्ठ चित्रकार राधेश्याम अग्रवाल, विजय दीप श्रीवास्तव, डॉक्टर संतोष खन्ना, सैयद अबरार हुसैन, तनवीर उल हसन, संजय मालवीय एवं अन्य लोग उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन एवं स्वागत संयोजक तलत महमूद एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ. जूही शुक्ला (प्राचार्य प्रयाग महिला विद्यापीठ महाविद्यालय) ने किया।