October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

मऊ:- सिलेंडर फटा नही और विस्फोट के बाद जमींदोज हो गए मकान, कैसे हुई 13 लोगों की मौत।


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

मऊ जिले के मुहम्मदाबाद गोहना तहसील क्षेत्र के नगर पंचायत वलीदपुर के बिचलापुरा मुहल्ले में सोमवार की सुबह छह बजे के करीब हुई विस्फोट से 13 लोगों की जान गई थी। इससे जिले के साथ लखनऊ दहल गया था। उस मामले में 24 घंटे बाद नया तथ्य आया कि सिलिंडर में लिकेज हुआ था, नाकि विस्फोट। प्रश्न उठता है कि आखिर इतना भयंकर विस्फोट कैसे हो गया, जिसमें इतनी बढ़ी घटना को अंजाम दे दिया। वलीदपुर में हुए विस्फोट की घटना के बाद जिला मुख्यालय पहुंचे एचपीसीएल कंपनी के क्षेत्रीय प्रबंधक समीर इक्का ने मंगलवार की सुबह बातचीत में इस बात की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि घटना के बाद जब्त किए गए सिलिंडर को उन्होंने कोतवाली में पहुंचकर देखा।

इस दौरान सिलिंडर कही से फटा नहीं मिला। जबकि हादसे का श्रेय सिलिंडर विस्फोट पर करार दिया गया है। वहीं हादसे में जिंदा बची पीड़िता रीता पत्नी स्व छोटू ने बताया कि जब उसने नए सिलिंडर में रेग्युलेटर लगाया तो गैस का रिसाव होने लगा। इस दौरान वह घबरा गई।

हालांकि उसने रिसाव को रोकने का प्रयास अपने स्तर से किया। लेकिन जब रिसाव जारी रहा, तो वह शोर मचाते हुए बच्चों के संग घर से बाहर निकल गई। इसके बाद बचाव के दृष्टि से उसके घर में लोग गए, इसके चंद मिनट के बाद भयंकर विस्फोट हो गया। यह सबकुछ इतना जल्दी हुआ कि वह कुछ समझ भी नहीं पाई।

इसके बाद चारों तरफ चीख पुकार मच गई थी। जबकि समीर इक्का ने दावा किया कि उन्होंने पूरे प्रकरण की जांच कराने के लिए डीएम से एक कमेटी गठित कराने का अनुरोध किया है। ताकि सच्चाई सामने आ सके।

वहीं एटीएस जांच के बाद किसी अन्य विस्फोटक के न होने की पुष्टि कर चुकी है। ऐसे में यह प्रश्न मौके वारदात पर चर्चा का विषय बना था कि जब सिलिंडर फटा नहीं तो इतना बड़ा हादसा कैसे हो गया?