October 31, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

उत्तर प्रदेश:-शिक्षक एंव स्नातक विधान परिषद चुनाव की सरगर्मी शुरू


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

शिक्षक एंव स्नातक विधान परिषद चुनाव की सरगर्मी शुरू
शाहिद नकवी
प्रयागराज,1अक्टूबर।शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव भले ही अगले वर्ष 2020 में होने हैं लेकिन निर्वाचन क्षेत्र बड़ा होने के कारण चुनावी सुगबुगाहट अभी से शुरू हो गई है। शिक्षक एमएलसी चुनाव क्षेत्र आगरा समेत लखनऊ, वाराणसी, बरेली- मुरादाबाद, गोरखपुर व मेरठ तथा आगरा, लखनऊ, वाराणसी, मेरठ, इलाहाबाद, झांसी स्नातक क्षेत्र के निर्वाचित विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल छह मई 2020 को खत्म होने की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश के निर्वाचन अधिकारी द्वारा मतदाता बनने का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। शिक्षक संगठनों ने भी शिक्षक एमएलसी चुनाव के लिए पूरी तरह कमर कस ली है।राजनीतिक दल भी इन चुनावों के लिए कमर कस रहे हैं।वहीं शिक्षक एमएलसी चुनाव में परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों को प्रतिभाग करने की छूट नहीं है।इस बार कुछ संगठन परिषदीय शिक्षकों के भी इस चुनाव में प्रतिभाग करने की मांग कर रहे हैं। 
         भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने शिक्षक व स्नातक विधान परिषद चुनाव को लेकर कहा कि पार्टी विधान परिषद चुनाव पूरी मजबूती के साथ लडेगी और जीतेगी। श्री सिंह ने चुनाव वाले सभी जिलों में चुनाव कार्यालय खोलने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि सभी विधायक वोटर बनाने के काम में जुटें तथा सतत् सम्पर्क अभी से प्रारम्भ कर दिया जायें।उन्होंने कहा कि क्षेत्र स्तर 5 कार्यकर्ता व जिला स्तर 5 कार्यकर्ता विधान परिषद चुनाव की माॅनीटरिंग के लिए कार्य कर रहे है। मतदान केन्द्र स्तर पर बनाई गईं टोलियों के साथ बैठकें प्रारम्भ हो चुकी हैं और बैठकें आगे भी जारी रहेंगी। 1 अक्टूबर से मतदाता बनाने का कार्य चुनाव आयोग प्रारम्भ कर देगा, उससे पूर्व ही हमारी तैयारियां पूरी हो जानी चाहिए। सभी विधायकों को वोटर बनाने के काम में अभी से जुटना होगा। पार्टी विधान परिषद स्नातक निर्वाचन क्षेत्र की लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ, इलाहाबाद-झांसी तथा शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र की लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ, बरेली-मुरादाबाद तथा गोरखपुर-फैजाबाद सीटों पर पूरी ताकत के साथ चुनाव लडेगी और सभी सीटें जीतेगी। 
   उधर समाजवादी पार्टी ने भी चुनावी तैयारी शुरू कर दी है।सपा ने भी स्नातक क्षेत्र की सीटों पर उम्मीदवार उताकर इन चुनावों को गंभीरता से लड़ने का संकेत दिया है। सपा ने लखनऊ स्नातक क्षेत्र से लखनऊ विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व महामंत्री राम सिंह राणा को प्रत्याशी बनाया है। राणा कई सालों से सपा के युुवा संगठनों से जुड़े हुए हैं। इलाहाबाद-झांसी से डॉ. मान सिंह, वाराणसी से आशुतोष सिन्हा और मेरठ स्नातक क्षेत्र से शमशाद अहमद मलिक को उम्मीदवार बनाया है।
        प्रदेश में विधान परिषद के स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से आठ-आठ विधान परिषद सदस्य चुने जाते हैं। इन 16 एमएलसी में 11 का कार्यकाल 6 मई 2020 को पूरा हो रहा है। इनमें पांच एमएलसी स्नातक क्षेत्र के हैं। इन पांचों विधान परिषद सदस्यों के लिए अप्रैल 2020 में चुनाव कराए की संभावना जताई जा रही है।जिन पांच स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों में अगले साल चुनाव प्रस्तावित हैं, उनमें वाराणसी, इलाहाबाद-झांसी, आगरा-अलीगढ़, लखनऊ और मेरठ शामिल हैं। स्नातक क्षेत्र की इन पांच सीटों में दो भाजपा, एक सपा, एक निर्दलीय और एक शिक्षक दल के पास है। प्रमुख राजनीतिक दलों ने स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी।
उत्तर प्रदेश विधान परिषद के इलाहाबाद-झांसी खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक नामावलियों को तैयार करने हेतु भारत निर्वाचन आयोग तथा मुख्य निर्वाचन अधिकारी उ0प्र0 लखनऊ के द्वारा 01 नवम्बर, 2019 की नामावली तैयार कराये जाने के निर्देश दिये है। निर्वाचन नामावली में रजिस्ट्रीकृत किये जाने के हकदार प्रत्येक व्यक्ति से यह अपेक्षा की जाती है कि अपना नाम सम्मिलित किये जाने के लिये निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण नियम-1960 के अन्तर्गत फाॅर्म-18 में अपना आवेदन पत्र जिला निर्वाचन कार्यालयों / सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी / अतिरिक्त सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कार्यालय ( आयुक्त कार्यालय, झांसी ) एवं संबंधित अधिकारी ( विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र ) / पदाभिहित केन्द्रों में भेज दें या परिदत्त कर दें। अर्हक तारीख के संदर्भ निर्वाचक नामावलियां निर्धारित तरीके से नयी बनायी जायेंगी।
  आवेदन पत्र फाॅर्म-18 संबंधित जिला निर्वाचन कार्यालयों एवं निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी / सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी / पदाभिहित अधिकारियों के कार्यालयों से प्राप्त किये जा सकते है। पाण्डुलिपि, टंकित साईक्लोस्टाइल किये गये अथवा व्यक्तिगत रूप से मुद्रित / डाउनलोड किये गये फाॅर्म भी स्वीकार किये जायेंगे।