October 30, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

पटना में आफत की बारिश थमी, आसमान से की जा रही जमीन पर मदद


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

पटना में आफत की बारिश थमी, आसमान से की जा रही जमीन पर मदद

बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के कई इलाके जलमग्न हैं। हालांकि राहत की बात है कि सोमवार को बारिश नहीं हुई है। इस बीच पहले की बारिश के कारण जलमग्न इलाकों में राहत और बचाव कार्य तेज हो गए हैं। राहत और बचाव में मदद के लिए केंद्र सरकार ने वायुसेना के दो हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराए हैं, जिससे पानी से घिरे लोगों के लिए खाने के पैकेट गिराए जा रहे हैं। इसके बावजूद अनेक प्रभावित इलाकों में पीने का पानी तक उपलब्ध नहीं है। इससे प्रभावित लोगों में नाराजगी है।

तीन दिनों से अपने निजी आवास में कैद राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित उनके परिवार के सदस्यों को भी जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की मदद से निकाला गया।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया, जबकि पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पानी में घुसकर लोगों की मदद की और राहत सामग्री बांटी।

पटना जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि पटना के कई इलाकों में जमा पानी निकलने लगा है। राजेंद्र नगर और कंकड़बाग में अभी भी पानी भरा हुआ है।पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि पटना के प्रभावित इलाकों में वायुसेना के दो हेलीकॉप्टर फूड पैकेट्स गिरा रहे हैं। इधर, पटना के जल-जमाव वाले कई इलाकों में बिजली नहीं है, जिससे लेाग परेशान हैं। कई इलाकों में सबसे बड़ी परेशानी पीने के पानी को लेकर है।

राहत सामग्री का वितरण नाकाफी होने के कारण लोगों का गुस्सा सरकार पर साफ दिख रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पटना में पूरी सरकार है, परंतु अभी तक कोई भी नेता पानी से घिरे लोगों के बीच नहीं पहुंचा।पिछले तीन दिनों से जल जमाव के कारण पानी बदबू देने लगा है। पटना की सड़कों पर नावें चल रही हैं, जबकि घरों और अस्पतालों में पानी भरा हुआ है। आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पटना सहित राज्य में 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।