June 6, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

संकट के समय मदद करने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मैडिकल स्टाॅफ ने किया दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का धन्यवाद

संकट के समय मदद करने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मैडिकल स्टाॅफ ने किया दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का धन्यवाद
डाॅक्टरों व मैडिकल स्टाॅफ ने अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस के मौके पर दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का आभार प्रकट करने के लिए आयोजित किया कार्यक्रम

नई दिल्ली, 13 मई (मनप्रीत सिंह खालसा):- राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डाॅक्टरों व मैडिकल स्टाॅफ ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी व इसके स्टाॅफ द्वारा कोरोना संकट के समय उनके ठहरने का प्रबंध करने के लिए व सहुलियतें प्रदान करने पर उनका आभार प्रकट किया है।
आज अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस के मौके पर गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब की गुरु अर्जन देव निवास सराय में हुए एक धन्यवाद कार्यक्रम (थैंक्स गिविंग सैरेमनी) के दौरान मैडिकल स्टाॅफ के नेताओं ने कहा कि वह दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी व इसके स्टाॅफ के आभारी हैं जिन्होंने इस गंभीर संकट के समय मानवता का धर्म निभाते हुए उनकी मदद के लिए आगे आए और ना सिर्फ रहने के लिए जगह दी बल्कि कमेटी की सराय में ठहराव के दौरान हर संभव सहायता कर रहे हैं। इन नेताओं ने कहा कि दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी की कार्रवाई ने सुनिश्चित बनाया है कि कोरोना व अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों को उन अस्पतालों में समय पर ईलाज मिल सके जहां यह मैडिकल स्टाॅफ काम करता है।
डाॅक्टरों व मैडिकल स्टाॅफ ने कहा कि कोरोना संकट के शुरुआती दिनों में स्टाॅफ के आस-पड़ोस में रहने वाले लोग उनकी तरफ इस तरह देखते थे जैसे वह ही कोरोना बीमारी लेकर आये हैं ओर इससे पीड़ित हैं । उन्होंने कहा कि उस वक्त मैडिकल स्टाॅफ जो राष्ट्रीय राजधानी के अलग-अलग क्षेत्रों में किराये पर रहता था, को मकान मालिकों ने कहा दिया कि वह उनके घर खाली करें क्योंकि वह अपने अस्पतालों में कोरोना के मरीजों का ईलाज करते हैं। उनहोंने कहा कि उस वक्त मैडिकल स्टाॅफ के लिए बड़ी चिंता यह बन गई थी कि वह कहां रहें पर दिल्ली गुरुद्वारा कमेअी व इसके स्टाॅफ ने उन्हें सराय में ठिकाना देकर यह संकट समाप्त कर दिया।
इन नेताओं ने कहा कि हम अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस को दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी व इसके स्टाॅफ को समर्पित करना चाहते हैं जिसने मैडिकल स्टाॅफ के हक में आने का अहम कदम उठाया। उन्होंने कहा कि जब यह गंभीर स्थिति आई थी तो लोग डाक्टरों व नर्सों के नजदीक आने से भी डरते थे पर दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के बहादुर सैनिक आगे आये व भाई-बहनों की तरह उन्हें मानवता की सेवा निभाने में अतुल्नीय मदद प्रदान की। उन्होंने कहा कि वह महसूस करते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस उन सभी लोगों को समर्पित होना चाहिए जो संकट की इस घड़ी में मैडिकल स्टाॅफ की मदद में जुटे हुए हैं। इस मौके पर डाॅक्टरों व नर्सों ने दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के स्टाॅफ को मिठाईयां भी बाँटी।
एक अलग बयान में कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दुनिया भर के लोग इस अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस के मौके पर मैडिकल स्टाॅफ के ऋणि हैं। उन्होंने कहा कि इस गंभीर संकट के समय मानवता को बचाने के लिए अपनी सेवाएं व योगदान देने वाले इन मैडिकल स्टाॅफ के सदस्यों की प्रशंसा के लिए शब्द नहीं हैं जिनके माध्यम से हम इनका आभार प्रकट कर सके। उन्होंने कहा कि इतिहास हमेशा याद रखेगा कि जब कोरोना का यह गंभीर संकट मानवता के सामने आया था तो ऐसे मैडिकल प्रौफ्ेशनल की टीमों ने ही दुनिया भर में मानवता को बचाया था।