June 6, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

“विधायक” ने कहा आने वाले समय में एनसीआर में सबसे विकसित विधानसभा होगी लोनी

विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने दिल्ली और गाजियाबाद जल निगम के साथ की महत्वपूर्ण बैठक, श्रावण माह से पूर्व 11 करोड़ की लागत से तैयार होगा पाइप लाइन कांवड़ मार्ग, लोनी में सीवर और एसटीपी प्लांट के शुरूआती चरण के लिए भी जारी हुए 49 करोड़ रूपए

लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर लगातार लोनी को एनसीआर का सर्वश्रेष्ठ विधानसभा बनाने की बात करते है लेकिन इसमें सबसे बड़ी बाधा लोनी में मौजूद जलभराव के निकासी के लिए अपर्याप्त सीवर व्यवस्था और एसटीपी प्लांट का ने होना है लेकिन विधायक ने इस समस्या के भी स्थायी समाधान की ओर कदम बढ़ा दिया है। कुछ माह पूर्व ही विधायक ने जल बोर्ड के साथ बैठक कर लोनी के संपूर्ण जलभराव की समस्या के निस्तारण हेतु करीब 1000 करोड़ का मास्टर प्लान तैयार किया था। इसी क्रम में बुधवार को गाजियाबाद स्थित जल निगम के दफ्तर में विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने विभाग के मुख्य अभियंता जीएस श्रीवास्तव, दिल्ली जल बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी विक्रम सिंह, सहायक अभियंता संजय कुमार के साथ बैठक में दिल्ली जल बोर्ड ने 11 करोड़ 4 लाख की लागत से बनने वाले कांवड़ मार्ग बनाए जाने की बात कही। वहीं लोनी में संपूर्ण जल निकासी के लिए सीवर लाइन के बिछाने के लिए 45 करोड़ एवं एसटीपी एवं मुख्य पंपिंग स्टेशन के लिए 4 करोड़ रूपए जारी किए गए की सूचना विधायक को दी गई। वहीं विधायक द्वारा पेयजल हेतु लोनी में लगाए गए 32 हजार नल कनेक्शन में पानी नहीं आने पर नाराजगी जताई जिसके जवाब में विभाग ने आश्वस्त करते हुए कहा कि अगले एक महीने में सभी नलों में पानी पहुंच जाएगा।

“विधायक ने बताया 11 करोड़ की लागत से बनेगा शानदार कांवड़-पाइपलाईन मार्ग, लोनी पालिका और पीडब्लूडी का बचेगा धन”

विधायक ने बैठक के बाद जानकारी दी कि क्षेत्र के लिए पाइपलाईन-कांवड़ मार्ग का निर्माण एक सरदर्द बन चुका था क्योंकि यह मार्ग दिल्ली जल बोर्ड के स्वामित्व में आता है। हर साल इस मार्ग से लाखों शिवभक्त पवित्र कांवड़ लेकर मेरठ-मुरादनगर-लोनी की यात्रा तय करते है साथ ही प्रतिदिन भी लाखों लोगों के लिए यह मार्ग आवागमन का साधन है। इस मार्ग के लिए लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी है क्योंकि हर बार दिल्ली सरकार अनुरोध के बावजूद इसके निर्माण में आनाकानी करती थी और मजबूरी में स्थानीय प्रशासन द्वारा इसमें पेचिंग वर्क कराया जाता था जो कुछ समय के बाद टूट जाते है। हमने पानी रोकने की धमकी दी, पिछले दिनों 2 पत्र दिल्ली सरकार को लिखे आज मुझे खुशी है कि लड़ाई का फल जल्द लाखों लोगों को मिलेगा और कांवड़ यात्रा भी आसान होगी। दिल्ली सरकार ने इस मार्ग के निर्माण हेतु 11 करोड़ 4 लाख 55 हजार की धनराशि स्वीकृत कर दी है जिसे गाजियाबाद जल निगम को सौंप दिया जाएगा और 18 तारीख तक टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। मुझे आश्वस्त किया गया है कि पवित्र कांवड़ यात्रा से पूर्व यह शानदार सीसी मार्ग बनेगा। इस फैसले से लोनी नगर पालिका और पीडब्लूडी का इस मार्ग पर खर्च होने वाला करोड़ों रूपए बचा है। मैं दिल्ली जल बोर्ड, गाजियाबाद जल निगम को धन्यवाद देता हूं कि इस विषय में तीव्र गति से सभी प्रक्रिया को पूरा किया गया है।

“सीवरेज सीस्टम और एसटीपी प्लांट के निर्माण हेतु जारी हुए 49 करोड़ की धनराशि, माह के अंदर पहुंचेगा 32 हजार घरों तक पेयजल”

बैठक में विधायक मुख्य अभियंता एंव सहायक अभियंता संजय कुमार ने विधायक को जानकारी दी कि नमामि गंगे योजना के तहत 30 एमएलडी क्षमता के एसटीपी प्लांट कार्य एवं जलभराव को रोकने के लिए मुख्य पंपिंग स्टेशन हेतु 4 करोड़ रूपए और सीवरेज सिस्टम के जाल को बिछाने के लिए 45 करोड़ रूपए की धनाशि अमृत योजना के तहत पिछली बैठक में आपके द्वारा चिंता जताने के बाद शुरूआती चरण में जारी कर दिए गए है जिससे जलभराव की समस्या काफी हद तक समाप्त हो जाएगी। साथ ही आने वाले चरण में इसका विस्तार किया जाएगा जिससे लोनी में निकट भविष्य में वर्षा के बाद भी कुछ मिनटों में लोनी से बारिश का पानी निकल जाएगा। जल निगम लोनी में जलनिकासी के लिए गंभीर है और जल्द इसके अच्छे परिणाम हमारे सामने होंगे। वहीं विधायक ने कहा कि पेयजल हेतु क्षेत्र में 32 हजार कनेक्शन दिए गए है लेकिन किसी में भी पानी नहीं आ रहा है। इस तरह का कछुआ चाल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा एक माह के अंदर सभी नलों में पानी आना चाहिए तभी विभाग को यूसी सार्टिफिकेट दिया जाएगा वरना शासन को इस विषय से अवगत कराया जाएगा। जल निगम के अधिकारियों ने कहा कि माह के अंदर ही परिवारों तक पेयजल पहुंचना शुरू हो जाएगा।

बैठक के बाद लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि *हम प्रतिबद्ध है कि हम लोनी को एनसीआर की अन्य विधानसभा के समकक्ष लेकर जाएं और इसके लिए हमारे पास संपूर्ण विजन है। लोनी की मुख्य जलभराव की समस्या के निदान की दिशा में गाजियाबाद जल निगम से हम लगातार सकारात्मक बैठक कर रहे है जिसके नतीजे भी आने शुरू हो गए है। हमारा लक्ष्य है कि हम लोनी में सीवरेज का जाल और लोगों के घरों तक नल के माध्यम से पेयजल पहुंचाए। इस दिशा में प्रदेश् एवं केंद्र सरकार गंभीर है और जल्द लोनी का बदला हुआ स्वरूप लोगों के सामने होगा जहां सड़क, बिजली पानी को मुद्दा बीते दिनों की बात होगी।