June 6, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

अल्लाह की इबादत के लिए सबसे ज्यादा पाक महीना है माहे रमजान:-फरमान खान

ग़ाज़ियाबाद लोनी फरमान खान:- रमजान उल मुबारक महीने के दिन और रात दोनों बहुत ही बरकत का वक्त है। दिन में रोजे के साथ इबादत का दर्जा है । जितना भी हो सके रोजा रख कर कुरान शरीफ की तिलावत करे। नमाजे पढ़े, गरीबो की मदद करे, अल्लाह इस पाक महीने में रोजदार की हर दुआ कबूल करता है। इस महीने की इबादत का दर्जा इतना है जितना कि सालभर इबादत करने का भी नहीं है, इसलिए रमजान की बरकत और फजीलत का शबाब हम तमाम लोगों को उठाना चाहिए। पता नहीं अगले साल का रमजान हमे नसीब हो या नहीं , अल्लाह ताला इस महीने में एक नेकी के बदले 70 गुना अधिक शबाब देता है । हमे रमजान की अजमत को देखते हुए,इस महीने में गरीबों की ज्यादा से ज्यादा मदद करनी चाहिए, जो लोग मजबूर बेसहारा है उनकी हर हाल में मदद करना हमारा फर्ज बनता है, गरीबों की मदद के लिए ही जकात देने का हुक्म दिया गया , जिसको भी अल्लाह पाक ने जैसी हेसियत दी वो उसी हेसियत से तकसीम इमदाद करे । और अपनी कमाई का ढाई प्रतिशत गरीबों को देना चाहिए जो हर मुसलमान का फर्ज है, इस महीने में अल्लाह ताला अपने बंदों पर खास कर्म फरमाता है और इस महीने में शैतान को कैद कर दिया जाता है, जितना भी हो सके इस महीने में इबादत और गरीब लोगों की मदद करें