July 8, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

बिजनोर/अफजलगढ़ – गांव प्रेमपुरी में गुलदार की मौत के मामले मे ग्रामीणों ने वन विभाग पर निर्दोष लोगो को फंसाने का आरोप लगाया

निदोषो को फसाने का आरोप

बिजनोर अफजलगढ़ ।दस दिन पूर्व गांव प्रेमपुरी में गुलदार की मौत के मामले मे ग्रामीणों ने वन विभाग पर निर्दोष लोगो को फंसाने का आरोप लगाया ।ग्रामीणों ने डीएम से घटना की सही जाॅच कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई कराने व निर्दोष को मुक्त कराने की मांग की है ।
गांव प्रेमपुरी के ग्रामीणो ने लाॅकडाउन का पालन करते हुए एक बैठक आयोजित की बैठक मे ग्रामीणों ने वन विभाग द्वारा दस दिन पूर्व गुलदार की मौत के मामले मे निर्दोष 3 लोगो को नामजद कर फंसाने का आरोप लगाया । ग्रामीण हरजिंदर सिंह, हरपाल सिंह, सुरेन्द्र सिंह, धर्मेन्द्र, भूपेन्द्र तथा जगदीश आदि सहित अन्य ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग की ओर से नामजद किये तीन लोगो में एक दिव्यांग व दूसरे के पैर में फैक्चर है ।ऐसे मे वह घटना को अंजाम नही दे सकते है ।ग्रामीणों का कहना है कि इनमें से एक युवक का सिर्फ इतना कसूर है कि अपने खेत में आ पड़े गुलदार के शव को रामगंगा नदी मे फेंक दिया था ।यह बात उन्होंने वन विभाग को भी बताई थी ।ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग की ओर से तीन निर्दोषो को कसूरवार ठहराकर पुलिस में उनके विरुद्ध झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी ।जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है। इस सम्बन्ध में ग्रामीणो ने डीएम से घटना की जांच कराकर निर्दोष युवकों को आरोप मुक्त कराने की मांग करते हुए दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई कराये जाने की मांग की है ।
गौरतलब है कि वन विभाग को दस दिन पूर्व एक गुलदार का शव खेत मे पड़ा होने की सूचना मिली थी ।जिसका शव वन कर्मियों ने सवेरे रामगंगा नदी से बरामद किया था।वही खेत स्वामी सहित तीन लोगो के विरूद्ध पुलिस में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी ।

रिपोर्ट, शमीम अहमद/सुनील कुमार बिजनोर