October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

दिल्ली में फिर दागदार/शर्मसार हुई खाकी।


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

राकेश गुप्ता दिल्ली

दिल्ली के थाना उस्मानपुर इलाके की ब्रह्मपुरी में रहने वाली नाबालिक रेप पीड़िता गुड़िया (बदला हुआ नाम) जिसको 3 दिन पहले ही कोई बहला फुसलाकर ले गया था, के जख्म अभी भरे भी नही थे कि देश की सबसे तेज तर्रार दिल्ली पुलिस के एक सिपाही ने पीड़िता को एक नया जख्म दे दिया।

राजधानी दिल्ली के थाना न्यू उस्मानपुर में तैनात सिपाही विश्राम मीणा ने एक 16 साल की रेप पीड़िता को ही अपनी हवस का शिकार बना लिया दरअसल एक 16 साल की नाबालिक लड़की को कुछ दिन पहले कोई बहला फुसला कर अपने साथ ले गया था जिसके बाद थाना उस्मानपुर पुलिस इस मामले की तहक़ीक़ात कर रही थी थाना उस्मानपुर पुलिस का सिपाही विश्राम मीणा 19 सितम्बर सुबह 9 बजे लगभग पीड़ित लड़की के घर पहुंचा और लड़की को कोर्ट में ब्यान करने के बहाने से तीसरा पुस्ता यमुना खादर ले गया और वहाँ उसके साथ रेप जैसी घिनोनी वारदात को अंजाम दे दिया

पीड़िता को रेप के बाद आरोपी पुलिस कर्मी अपनी बिना नम्बर की बुलेट मोटर साइकिल पर लगभग 11 बजे पीड़िता की गली में छोड़कर भाग गया।

पीड़िता ने अपने परिजनों को घर आकर सारी बात बताई तो मां बाप के पैरों से जमीन खिसक गई। उन्होंने आनन फानन में 100 नम्बर पर कॉल की। पुलिस आई और पीड़िता और उसके परिजनों को थाना न्यू उस्मानपुर ले गई।

पड़ोसियों के आरोप

पड़ोसियों के आरोप है कि उसके बाद 2 पुलिस कर्मी एक वर्दी में और एक सिविल में गली में आये और गली में लगे हुए कैमरों की DVR को जबरन ले जाने की कोशिश करने लगे, तब गली मोहल्ले के सभी लोग एकत्रित हो गए और पुलिस को वहाँ से खाली हाथ आना पड़ा। लोगों का कहना है कि उन पुलिस वालों ने जिस घर मे CCTV CAMERA लगे हैं के मालिक को DVR ना देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी।

क्षेत्रीय लोगों में है आक्रोश

घटना को लेकर क्षेत्रीय लोगों में बहुत आक्रोश है, थाना न्यू उस्मानपुर पर दोपहर 12 बजे से ही लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया था, जो धीरे धीरे हजारों की तादाद में पहुंच गया था।

निगम पार्षद अग्रवाल जी भी मौके पर पहुंचे थे, संघर्ष NGO के भी तमाम पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौके पर मौजूद थे, न्यू उस्मानपुर थाने के SHO ने संघर्ष NGO के महासचिव राकेश गुप्ता को आस्वासन दिया कि दोषी के खिलाफ शख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी। तब राकेश गुप्ता ने भीड़ को शान्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

क्या हुई पुलिस की कार्यवाही

DCP उत्तरी पूर्वी जिला वेद प्रकाश सूर्या जी खुद थाना न्यू उस्मानपुर पहुँचे और जनता की बात सुनने के बाद आरोपी पुलिस कर्मी को जनाक्रोश को देखते हुए तुरन्त हिरासत में लेने के आदेश दिए, साथ ही जनता को आस्वाशन दिया की पीड़िता हम सभी की बच्ची है उसे इंसाफ मिलेगा। रात 9 बजे के लगभग पीड़िता का मेडिकल होने के बाद धारा 376 व पोस्को में FIR दर्ज होने की खबर है, विश्राम मीणा को तत्काल प्रभाव से पुलिस उपायुक्त महोदय ने निलंबित कर दिया है। मामले की जांच ACP रेंक के अधिकारी द्वारा किये जाने की संभावना है।