October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

करौली टोडाभीम – कैमरी में जगदीश भगवान की निकली रथयात्रा


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

करौली टोडाभीम

कैमरी में जगदीश भगवान की निकली रथयात्रा, ।
जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक,, राजा विश्वेंद्र सिंह देवस्थान विभाग के मंत्री, टोडाभीम विधायक पी आर मीणा, तथा पूर्व विधायक घनश्याम मेहर एवं रामस्वरूप मीणा, ने रथपर खड़े होकर प्रसाद वितरण।

टोडाभीम विधानसभा के नादौती उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत कैमरी श्री जगदीश महाराज स्थित है श्री जगदीश महाराज का बसंत पंचमी को वार्षिक महोत्सव मनाया जाता है। श्री जगदीश महाराज उड़ीसा में निवास करते हैं उड़ीसा वाले जगदीश महाराज के पट परिक्रमा लगाते हुए भक्त चंद्रमा दास उड़ीसा रवाना हुए। जब यह चंद्रमा दास पट परिक्रमा लगा रहा था तो पट परिक्रमा लगाते लगाते भक्त चंद्रमा दास के शरीर में कौद पड़ गए और कोद पड़ने के कारण कीड़े भी पड़ गये। भक्त चंद्रमा दास ने हार नहीं मानी जो भी कीड़ा नीचे गिर जाता था तो वह पट परिक्रमा लगाते हुए पड़े गोद में वापस डाल लिया करता था। वैसे सारी प्रक्रिया को श्री जगदीश भगवान अंतर्यामी देख रहे थे जब उड़ीसा में स्थित श्री जगदीश भगवान का मंदिर मात्र सौ किलोमीटर दूर रह गया तो फोटो परिक्रमा लगाते जा रहे चंद्रमा दास को गोदी में उठा लिया और कहा भक्त मांगो क्या चाहते हो तो भक्त चंद्रमा दास ने कहा महाराज मुझे आप स्वयं ही चाहिए तो भक्त चंद्रमा दास की इच्छा पूर्ण करने के लिए एवं भगवान जगदीश महाराज उसके साथ चल दिए और उड़ीसा से चलकर कैमरी में विराजमान हुए। आपको बता दें कि यह चंद्रमा दास भक्त जो है नांद तलाई गांव का रहने वाला था। यह नांद तलाई गांव गंगापुर क्षेत्र में पड़ता है। यह चंद्रमा दास भक्त कैमरी गांव के गुर्जरों का भांजा लगता था।
चलो अब आपको बसंत पंचमी का मेला कैमरी धाम में लक्खी मेला जो लगता है उसके बारे में अवगत कराते हैं। इस मेले का आयोजन बसंत पंचमी को किया जाता है। सबसे पहले बसंत पंचमी के दिन सुबह 4: 00 बजे से ही पूजा अर्चना करने के बाद आमजन के दर्शनों के लिए मंदिर के पट द्वार खोल दिए जाते हैं उसके बाद लगभग यह प्रक्रिया दोपहर 12: 00 बजे तक चलती है। इसके उपरांत श्री जगदीश भगवान सुसज्जित रथ में बैठा कर जनकपुरी के लिए रवाना किया जाता है, इस रथ में करौली जिला कलेक्टर मोहन लाल यादव तथा पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार बैठकर प्रसाद वितरण करते हुए आगे चलते हैं रथ के साथ साथ दूसरा रथ भी चलता है उसमें ठाकुर जी रखे गये , ठाकुर जी वाले रथ में पर्यटन एवं देवस्थान विभाग के मंत्री विश्वेंद्र सिंह टोडाभीम विधानसभा के विधायक पृथ्वीराज मीणा, एवं पूर्व विधायक घनश्याम महर बैठकर खड़े रहे और प्रसाद वितरण करते रहे ।रथ के आगे आगे धार्मिक संगीत की धुन बैंड बाजों के साथ निकल रही थी। मंदिर से जनकपुरी का दशरथ को व्यक्तियों के सहारे से ही ले जाया जाता है और पुष्प की वर्षा की जाती है। जनकपुर में पहुंचकर भगवान की माला का नीलामी का कार्यक्रम होता है जिस में आए हुए सभी भक्तगण पूजा अर्चना कर भेज चढ़ाते हैं । इसके बाद माला पर बोली लगाई जाती है। आखिरी बोली पर माना को सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले व्यक्ति को पहना दी जाती है। अतर सिंह गुर्जर ने बताया कि जनकपुर में आज एक लाख इक्यावन हजार एक सौ एक रुपए की सबसे बड़ी बोली के रूप में रेख सिंह सूबेदार छोटी धमाडी ने लगाई। सांयकाल को वापस जगदीश मंदिर में जगदीश भगवान को वापस पहुंचाया जाता है जहां ठाकुर जी और जगदीश भगवान की पूजा-अर्चना की जाती है। हर अमावस पर एस जगदीश धाम में डेढ़ सौ से 200 मन चावल बनाकर भोग प्रसादी लगाकर भक्तों को वितरण किया जाता है।
ऐसे आयोजन में मुख्य रूप से देवस्थान विभाग एवं पर्यटन विभाग के मंत्री विश्वेंद्र सिंह भरतपुर वाले रहे। तथा पूर्व विधायक कांग्रेस के रामस्वरूप मीणा एवं घनश्याम मेहर उपस्थित रहे साथ में वर्तमान विधायक पृथ्वीराज मीणा भी उपस्थित रहे। नानावती क्षेत्र के लोगों ने सड़क एवं पानी की समस्या को विशेष रूप से मेले में आए विधायक एवं मंत्री जी को अवगत कराया। मंत्री जी ने पानी एवं सड़क की पूर्ण व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।