October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

राजगढ़ के छापीहेड़ा नगर में स्थित पशु चिकित्सालय में लापरवाही करते हुए पाए गए खुद चिकित्सा अधिकारी


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

राजगढ़ के छापीहेड़ा नगर में स्थित पशु चिकित्सालय में लापरवाही करते हुए पाए गए खुद चिकित्सा अधिकारी नगर में स्थित चिकित्सालय का खुलने का समय शाम 5:00 बजे से 6:00 बजे तक का है मगर खुद चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रेम सिंह दांगी शाम को 5:57 पर अस्पताल का ताला खोलते हुए पाए गए और पूछने पर बताया कि हमारा कुल 3 जनों का स्टाफ है जो इस प्रकार है प्रथम चिकित्सा अधिकारी डॉ तीरथ राज पुलस्त जो कि कभी कबार अस्पताल में आते हैं और कभी नहीं आते हैं दूसरे खुद प्रेम सिंह दांगी चिकित्सा अधिकारी जो कि अस्पताल बंद होने के वक्त अस्पताल खोलते हुए पाए गए तीसरे भृत्य शंकर जोशी जो कि डॉक्टर से पूछने पर बताया गया कि वह अस्पताल में आते ही नहीं है डॉ प्रेम सिंह दाँगी चिकित्सा अधिकारी अपने प्राइवेट क्लीनिक पर पशुओं का इलाज करते है और प्राइवेट तौर पर इधर उधर जाकर पशुओं का इलाज करते हैं कभी कबार अगर गांव में नगर में गायों का एक्सीडेंट हो जाता है या आवारा गायों की डिलीवरी करवानी होती है तो नगर सहयोगी की सहायता से नगर गो सेवक प्राइवेट टीम के सदस्य प्राइवेट गो सेवा उपचार केंद्र पर लेकर आते हैं और नगर सहयोगीयो के आधार पर उनका उपचार करवाते हैं गो सेवक टीम के सदस्य मोनू भदौरिया ओम प्रकाश माली वर्तमान पार्षद सचिन विसालिया आदि गौ सेवा करते हुए पाए गए और गौ सेवक सदस्य और वर्तमान पार्षद श्री राम बाबू मालवीय का कहना यह है की अगर छापीहेड़ा नगर में पशु चिकित्सालय है तो चिकित्सक उपचार क्यों नहीं करते है और अपनी ड्यूटी में लापरवाही करते हैं कई दिनों से ताला पड़ा अस्पताल में पाया गया,, अस्पताल में इलाज के बदले की जा रही लापरवाही जैसे अस्पताल के अंदर गाय भैंस के लिए एक स्टैंड स्ट्रेचर होती है वह भी लगी हुई नहीं और उल्टी पड़ी हुई पाई गई।

राजगढ़ ब्यावरा से राजू मालवीय की रिपोर्ट ,,