October 23, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत आमजनों की समस्याओं को सुनने एवं निराकरण हेतु उपायुक्त पहुंचे प्रखंड कार्यालय


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

‘सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत आमजनों की समस्याओं को सुनने एवं निराकरण हेतु उपायुक्त, श्री जितेंद्र कुमार सिंह, मयूरहण्ड प्रखंड कार्यलय पहुंचे। मौके पर मुख्य रुप से जिला परिषद सदस्य, मयूरहण्ड, श्रीमती गुंजा देवी, निदेशक डीआरडीए, अरुण कुमार एक्का, सिविल सर्जन चतरा, अरुण कुमार पासवान, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, हारून रसीद, एलडीएम चतरा समेत विभिन्न विभागों के सभी संबंधित वरीय पदाधिकारी भी उपस्थित हुए। प्रखंड कार्यालय में विभिन्न विभागों द्वारा शिकायत निवारण हेतु स्टाल लगाया गया। इनमें मुख्य रूप से स्वास्थ्य विभाग, समाज कल्याण विभाग, कल्याण विभाग, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, कौशल विकास, विद्युत प्रमंडल, आपूर्ति समेत अन्य विभागों के स्टॉल लगाए गए। उक्त सभी विभागों में लोगों ने अपने-अपने समस्याओं एवं आवेदन दिया। उपायुक्त ने सभी स्टाल का एक एक कर निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में संबंधित पदाधिकारियों को लोगों को समस्याओं एवं आवेदन को प्राथमिकता देते हुए सभी का त्वरित निराकरण कर प्रखंड विकास पदाधिकारी के माध्यम से रिपोर्ट देने निर्देश दिया। कार्यक्रम में मयूरहंड प्रखंड के विभिन्न पंचायत के सुदुरवर्ती गांवों के ग्रामीण पहुंचकर अपनी समस्याओं को रखा। इनमें राशन कार्ड, वृद्धा पेंशन, नियमित राशन लेने की समस्याएं, स्वास्थ्य, बिजली, स्वास्थ्य समेत अन्य समस्याओं को उपायुक्त के समक्ष रखा। उपायुक्त ने पदाधिकारियों के सहयोग से सभी समस्याओं का त्वरित निष्पादन किया। कुछ मामलों में उन्हें आवश्यक दस्तावेज जमा करने की सलाह दी।

*’सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम में उपायुक्त ने कही प्रमुख बाते*

*’सरकार आपके द्वार’* कार्यक्रम के तहत जिला प्रशासन के सभी पदाधिकारी आप सबों के बीच पहुंची है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सभी की समस्याओं का त्वरित समाधान करना है। ताकि छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर आमजनों को जिला कार्यालय का चक्कर न लगाना पड़े। सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत सभी तरह की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इसमें मानदेय लंबित होने के मामले, राशन कार्ड, वृद्धावस्था पेंशन, दिव्यांग व विधवा पेंशन, विद्युत, स्वास्थ्य सहित अन्य समस्याओं का समाधान किया जा रहा है।

कार्यक्रम के उद्देश्यों की जानकारी देते हुए कहा कि इसमें सभी तरह के मामलों का निष्पादन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्व में लंबित समस्याओं का भी समाधान होगा। सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में मामलों के निष्पादन के लिए अलग-अलग विभागों के काउंटर भी लगाए गए हैं, ताकि लोगों की समस्याओं का त्वरित समाधान हो सके।

कार्यक्रम को लेकर प्रखंड क्षेत्र के गांव-गांव में जागरूकता अभियान चलाया गया, ताकि लोग ‘सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम में पहुंचकर अपनी समस्याओं का समाधान कराएं। साथ हीं जिला जनसंपर्क कार्यालय की ओर से एलइडी वाहन के माध्यम से सरकार की योजनाएं और सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारियां दी गयी।

*विभागों के स्टॉल पर भी दी गयी जानकारी:*

सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में जिला प्रशासन की ओर से स्टॉल लगाये गये। इनमें पेंशन, कृषि, खाद्य आपूर्ति, आवास योजना, मनरेगा, भू-राजस्व, बाल विकास परियोजना, एसबीएम, जेएसएलपीएस, कौशल विकास केंद्र, स्वच्छ भारत मिशन, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग, जिला गव्य विकास विभाग, जेएसएलपीएस, सक्षम झारखंड कौशल विकास योजना, वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, विद्युत, स्वास्थ्य आदि विभिन्न विभागों के स्टॉल लगाया गया। इन स्टॉलों पर लोग अपनी परेशानी को लेकर पहुंचे। किसी ने पेंशन से संबंधित आवेदन दिया तो किसी ने कौशल विकास केंद्र पर चलने वाले कोर्स के बारे में जानकारी लिया।  सभी का समाधान किया गया।

*मामलों के निष्पादन पर खुश थे आमजन*

सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में मामलों का त्वरित निष्पादन किया गया। वहीं अन्य मामले आवश्यक दस्तावेज नहीं होने के कारण निष्पादन नहीं किया जा सका। निष्पादित नहीं होने वाले मामलों में उपायुक्त ने आमजनों से आवश्यक दस्तावेज जमा करने की अपील की। साथ हीं संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को इन मामलों का निष्पादन करने का निर्देश दिया।

*कार्यक्रम में इनकी रही मौजूदगी*

सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में डीआरडीए निदेशक, सिविल सर्जन चतरा, जिला सामाजिक सुरक्षा पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पेयजल/विद्युत/ग्रामीण विकास, जिला योजना पदाधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक, प्रखंड विकास पदाधिकारी, मुखिया, जनसेवक सहित अन्य पदाधिकारी, कर्मचारी व स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।