October 28, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

बाँदा – किसानों की जिला प्रशासन नही ले रहा सुध, मजबूर किसानों क्रय केंद्र के बाहर 2 हप्ते कर रहे इंतजार, जनपद के तमाम केंद्र मे नही बिक रहा किसानों का धान


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

किसानों की जिला प्रशासन नही ले रहा सुध

मजबूर किसानों क्रय केंद्र के बाहर 2 हप्ते कर रहे इंतजार

जनपद के तमाम केंद्र मे नही बिक रहा किसानों का धान

किसानों की वेदना आई सामने

बुंदेलखंड में लगातार कई वर्षों से कुदरत की मार झेल रहे किसानों की स्थिति बद से बदतर होती चली जा रही है कभी कुदरत की मार कभी अन्ना जानवरों से किसान परेशान अब इन दिनों बुंदेलखंड के बांदा में अधिकारियों और सरकारी मशीनरी से परेशान नजर आ रहे हैं बांदा जनपद में के तमाम हिस्सों में धान की फसल तैयार होने के बाद किसान जब इसको बेचने के लिए क्रय केंद्रों में और मंडियों में जा रहे हैं तो मंडियों में अपने फसल को नहीं बेच पा रहे हैं ऐसे हालात में परेशान किसान अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है और पूरे मामले में जिला प्रशासन लापरवाह बना हुआ है तमाम किसान मंडी खरीद केंद्रों में भूख प्यास से परेशान होकर अपने फसल को बेचने के लिए मजबूर होकर 2 हफ्तों से इंतजार कर रहे है फिर भी किसान अपनी फसल नहीं बेच पा रहे है

Vo/ प्रदेश सरकार भले ही किसानों के लिए तमाम योजनाएं निकाल रही हो और किसानों को किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों को समय-समय पर दिशा निर्देश देकर किसानों की आए व तमाम कल्याणकारी योजनाओं से समय समय से लाभ देने की बात कर दिशा निर्देश दे रही है बावजूद उसके बांदा जिला प्रशासन कितना लापरवाह बना हुआ है इसकी बानगी बांदा के खरीद केंद्र और मंडी में देखने को मिल रही है कड़ी मेहनत मशक्कत के बाद किसानों ने अपने खेत मे धान की फसल को तैयार किया है फसल तैयार होने के बाद अब जब मंडी में बेचने की बात आई तो जनपद के तमाम सैकड़ों किसान अपना धान लेकर मंडी पहुंचे लेकिन सरकारी मशीनरी और जिला प्रशासन की घोर लापरवाही के चलते लगभग 15 दिनों से किसान खरीद केंद्रों के बाहर अपने ट्रैक्टर ट्राली और धान को बेचने के इंतजार में खड़े है जिम्मेदार अधिकारी किसानों की एक भी सुध नहीं ले रहा किसान बहुत ज्यादा परेशान है धान न बिकने के चलते किसान अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं और अपनी फसल बेचने के लिए जिला प्रशासन और सरकार से गुहार लगा रहे हैं लापरवाह बना बांदा का जिला प्रशासन किसानों की समस्या को सुलझाते हुए नहीं नजर आ रहा है अब देखने वाली बात है कि जनपद में सैकड़ों की तादाद में मंडियों में इकट्ठा क्रय केंद्रों में किसान क्या अपना ध्यान बेच पाएंगे या बिचौलियों के माध्यम से प्राइवेट धान खरीद केंद्रों में धान बेचनी पड़ेगी बेहतर मूल्य और सही दाम में प्रदेश सरकार किसानों के धान खरीद रही है लेकिन यहां सरकारी मशीनरी किसानों को प्राइवेट धान खरीद केंद्रों में धान बेचने के लिए मजबूर कर रहे हैं लगातार 1 हफ्ते से कलेक्ट्रेट डीएम कार्यालय में प्रदर्शन होने के बाद मंडी में जाकर किसानों से बात की तो किसानों की बेदना सामने आई जहा किसान ने बताया कि हम लोग भूख प्यास से परेशान होकर यहां मंडी में खड़े हुए हैं लेकिन हमारे इस धान किसी भी तरीके से अभी तक कोई खरीद नहीं की गई अधिकारी कोई सही जवाब नही दे रहे है

लापवाह डीएम पूरे मामले मे कुछ भी बोलने से कतरा रहे है आज भी कलेक्ट्रेट परिसर मे कुछ किसान धान खरीदी केन्द्र की लापरवाही की शिकायत लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे जिसके बाद सिटी सुरेंद्र सिंह ने मीडिया से बात करते हुए बताया की डीएम साब को मामले की जानकारी है खरीद केंद्र मे 28 तारीख तक किसानों का धान खरीदा जाना था लेकिन किसी कारण बस नही खरीदा गया जिससे किसान यहां कलेक्ट्रेट ज्ञापन देकर 5 दिनों से आ रहे है मेरी बात किसानों से हुई है डीएम साब को अवगत कराया है सम्बंधित क्रय केंद्र और मंडी सचिव के साथ मीटिंग कर जल्द ही किसानों की समस्या का निदान ढूढा जाएगा
Ayaz. Zama