October 26, 2020

BBC LIVE NEWS

सच सड़क से संसद तक

15 फरवरी को जनरल हाउस में गोलक चोरी करने वालों की सदस्यता रद्द करेंगेः मनजिंदर सिंह सिरसा


Notice: Trying to get property of non-object in /home/innpicom/public_html/wp-content/themes/newsium/inc/hooks/hook-single-header.php on line 71

15 फरवरी को जनरल हाउस में गोलक चोरी करने वालों की सदस्यता रद्द करेंगेः मनजिंदर सिंह सिरसा
दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का मनजीत सिंह जी.के को गोलक चोरी के मामले पर पक्ष रखने के लिए एक और मौका देने का फैसला

नई दिल्ली, 27 जनवरी (मनप्रीत सिंह खालसा):- दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के को गोलक चोरी के मामले में अपना पक्ष रखने के लिए एक अन्य मौका देना का फैसला किया गया हैं जिसके बाद 15 फरवरी को कमेटी का जनरल हाउस बुलाया जा रहा है जिसमें गोलक चोरी के दोषी सदस्यों की सदस्यता रद्द कर दी जायेगी। यह विचार कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने प्रकट किए।
यहां जारी किये एक बयान में श्री सिरसा ने बताया कि मनजीत सिंह जी.के को 10 बार अपना पक्ष रखने के लिए मौका दिया गया व बुलाया गया पर वह एक बार भी नहीं आये बल्कि उन्होंने आॅडिट कमेटी के आगे शर्त रखी कि उन्हें 10 करोड़ रुपये का इन्डैमिनिटी बांड भर कर दिया जाये और यह भरोसा दिया जाये कि जो भी बात वह आॅडिट कमेटी के बतायेंगे वह लोगों को नहीं बताई जायेंगी।
श्री सिरसा ने कहा कि गुरुद्वारा कमेटी के इतिहास में यह पहली बार देखने को मिला है कि जिन्होंने घोटाले किये हैं, वह मान रहे हैं कि घोटाले किए हैं पर साथ ही इन्डैमिनिटी बांड की मांग कर रहे हैं। जी.के को एक और मौका इसलिए देना चाहते हैं कि कल वह बहाना बना कर भाग ना सकें और लोगों के पास यह ना कहें कि उन्हें मौका ही नहीं दिया गया।
उन्होंने कहा कि मनजीत सिंह जी.के इसलिए आॅडिट कमेटी के आगे पेश नहीं हो रहे क्योंकि वह जानते हैं कि अगर वह पेश हुए तो लोगों को सच पता लग जायेगा और वह किसी को मुंह दिखाने योग्य नहीं रहेंगे।
श्री सिरसा ने कहा कि अगर मनजीत सिंह जी.के चाहते हैं तो हम उनकी आॅडिट कमेटी के आगे सारी सुनवाई मीडिया के सामने करने के लिए तैयार हैं और इसे लाइव प्रसारित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इससे लोगों को स्पष्ट हो जायेगा कि कौन ठीक है और कौन गलत?
दिल्ली कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि 15 फरवरी को होने वाले जनरल हाउस के लिए सदस्यों को विस्तार सहित दस्तावेज उपलब्ध करवाये जायेंगे व बताया जायेगा कि किसने कैसे गोलक चोरी की व इस पूरे मामले में कौन-कौन शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह दस्तावेज भी दिये जायेंगे कि गोलक चोरी के लिए कौन सी कार्यविधी इस्तेमाल की जाती थी कितने पैसों का गबन किया गया है। जनरल हाउस में उन सदस्यों की सदस्यता रद्द की जायेगी जो इस गोलक चोरी के मामले में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इतिहास में यह पहली बार होगा कि भ्रष्टाचार के मामले में किसी की सदस्यता खारिज की जायेगी व यह सबक इसीलिए सिखाया जायेगा तांकि भविष्य में कोई भी ऐसी गलती ना कर सके।
श्री सिरसा ने कहा कि मनजीत सिंह जी.के की हालत सब जानते हैं, संगत उन्हें गोलक चोर कह कर संबोधित करती है और इसलिए वह नगर कीर्तन में भी शामिल होने से कतरा रहे हैं। भविष्य में श्री जी.के से यह भी जवाब तलब किया जायेगा कि उन्होंने स्कूल में कौन-कौन से घपले किये, कौन से अध्यापक भर्ती किये व कैसे संस्थाओं के फंड की हेराफेरी उनके द्वारा की गई।